Breaking News उत्तर प्रदेश क्राइम

अयोध्या -अश्लील वीडियो चैटिंग केस में फंसे आबकारी विभाग के डिप्टी कमिश्नर, महिला ने दर्ज कराया मुकदमा

यूपी /

 रिपोर्ट मनोज तिवारी अयोध्या

महिला वीडियो क्लिप की फोटोग्राफ लेकर अयोध्या के केंट थाने पहुंची और पुलिस उप आबकारी आयुक्त के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है. कैंट थाना क्षेत्र की रहने वाली महिला का आरोप है कि आबकारी उपायुक्त ने दो-तीन महीने पहले उसे आबकारी विभाग में नौकरी देने का आश्वासन दिया था. आश्वासन देने के बाद वह मोबाइल पर अश्लील बातें, चैट और वीडियो कॉल करने लगे

अयोध्या. आबकारी विभाग के उपायुक् एसपी राव अश्लील वीडियो चैटिंग करने के मामले में फंस गए हैं. आबकारी उपायुक्त एसपी राव पर एक महिला ने वीडियो चैटिंग के दौरान अश्लील हरकत करने का मुकदमा दर्ज कराया है. यही नहीं महिला ने उपायुक्त पर घर में अश्लील हरकतें करने का भी आरोप लगाया है. पुलिस ने उपायुक्त के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है और जांच कर रही है.

शुक्रवार को संबंधित महिला वीडियो क्लिप की फोटोग्राफ लेकर केंट थाने पहुंची और पुलिस उप आबकारी आयुक्त के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है. कैंट थाना क्षेत्र की रहने वाली महिला का आरोप है कि आबकारी उपायुक्त ने दो-तीन महीने पहले उसे आबकारी विभाग में नौकरी देने का आश्वासन दिया था. आश्वासन देने के बाद वह मोबाइल पर अश्लील बातें, चैट और वीडियो कॉल करने लगे. महिला का कहना है कि नौकरी की जरूरत के चलते वह आबकारी आयुक्त की इस हरकत का प्रतिशोध नहीं कर पाई और चुप रही.

आरोप: आवास पर बुलाकर भी की अश्लील हरकतें

महिला का आरोप है कि 14 जनवरी की शाम 8:05 पर उसको उप आबकारी आयुक्त ने अपने आवास कौशलपुरी कॉलोनी के फेज दो स्थित मकान पर बुलाया. महिला अपने भतीजे के साथ मोटरसाइकिल से उप आबकारी आयुक्त के आवास पर पहुंची और भतीजे को नीचे छोड़कर मिलने के लिए उप आबकारी आयुक्त के कमरे में पहुंची. महिला का आरोप है कि उसने अपनी नौकरी की प्रगति के बारे में पूछताछ की तो उप आबकारी आयुक्त ने उसे पकड़ लिया और अश्लील हरकतें करने लगे.

अश्लीलता व आईटी एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज: सीओ सिटी

महिला का कहना है कि उसने किसी तरह खुद को छुड़ाया और दरवाजा खोलकर सीढ़ियों से नीचे भागी. इसके बाद वह चुपचाप भतीजे के साथ अपने घर चली गई. लोक लाज और सामाजिक प्रतिष्ठा के चलते अपने साथ हुई आपबीती उसने किसी को नहीं बताई. महिला ने कहा कि उसी रात आबकारी आयुक्त की ओर से देर रात 11 बजे के बाद उसके मोबाइल पर 9 बार फोन किया गया, लेकिन उसने फोन नहीं उठाया. फिर 15 जनवरी को उप आबकारी आयुक्त ने तीन बार दोपहर बाद 1.07 बजे, 5.01 बजे और 9.47 बजे रात में फोन किया लेकिन उसने फोन नहीं उठाया. मामले में सीओ सिटी अरविन्द चौरसिया ने बताया कि आबकारी उप आयुक्त के खिलाफ अश्लीलता व आईटी एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है.