Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

इकौना,श्रावस्ती- क्वारेन्टीन दो व्यक्तियों को खाना और नाश्ता की कोई सुविधाएं दैनिक रूप से नहीं कराई गई उपलब्ध

इकौना — विकासखंड इकौना ग्राम मोहम्मदपुर राजा ने क्वारेन्टीन दो व्यक्तियों को खाना और नाश्ता की कोई सुविधाएं दैनिक रूप से उपलब्ध नहीं कराई गई है क्वॉरेंटाइन व्यक्ति स्वयं भूखे रहते हुए वह अपनी व्यवस्था करने को मजबूर हो गए है। ग्राम पंचायत मोहम्मदपुर राजा निवासी क्वीरेन्टीन श्याम नारायण अवस्थी 48 वर्ष अपनी परिवारिक समस्या को लेकर मजदूरी करने के लिए लुधियाना चले गए थे ।काफी दिनों के बाद लाक डाउन लागू हो जाने पर अपने गांव वापस 22 अप्रैल को लौटे तो इन्हें स्वा0विभाग की ओर से प्राथमिक विद्यालय मोहम्मदपुर राजा में क्वॉरेंटाइन करा दिया गया । क्वारेन्टीन होने के बाद स्वा0 विभाग के चिकित्सक एवं पुलिस के अतिरिक्त बुधवार तक इन्हें इनकी कोई खाने-पीने का हालचाल लेने विद्यालय में उनके पास नहीं पहुंचा है । श्याम नारायण अवस्थी क्वॉरेंटाइन किए गए ने बताया कि प्रधान प्रेम नाथ वर्मा द्वारा खाने-पीने की कोई व्यवस्था नहीं दी गई है । 9 दिनों के बीत जाने के बाद आज उन्हें चना का नाश्ता लाकर दिया गया । इस संबंध में जब दूसरे क्वारेंटीन कमलेश कुमार लुधियाना से वापस लौटे 27 अप्रैल को प्रधान व ग्राम वि0 अधिकारी ने खाने-पीने की कोई व्यवस्था नहीं दी है । क्वारंटीन ब्यकितियो ने बताया का हम दोनों लोग भूखे प्यासे रहकर किसी एक दूसरे से खाने पीने का सामान बाहर से मंगवाकर पेट भरने को मजबूर है । लेकिन प्रधान ने अब तक खाने के लिए रोटी चावल आदि की कोई व्यवस्था नही दिया गया है।सरकार की ओर से दी गई व्यवस्था मे बाल्टी जग दो साबुन तीन दिन पूर्व शनिवार को ग्राम विकास अधिकारी ने भेजा था । इसके अतिरिक्त स्वा0विभाग के चिकित्सक और पुलिस विभाग के अधिकारी स्कूल में पहुंचकर उनका हालचाल जाना है । लेकिन इस क्षेत्र के कोई भी अधिकारी इस विद्यालय में अब तक उनका खाने पीने की व्यवस्था और साफ-सफाई की व्यवस्था संबंध में अब तक कोई जानकारी नहीं लेने नही पहुंचा ।प्राथमिक विद्यालय में बिजली की व्यवस्था नहीं है और ना कोई पंखा लगा हुआ है।जिससे मच्छरों का आतंक से रात का सोना मुश्किल हो गया है । इन दोनों व्यक्तियों ने जिला प्रशासन से मांग किया है कि हम लोगों के खाने-पीने और साफ सफाई करने की व्यवस्था सुचारू से कराई जाए जिससे बिजली पंखा लग जाने से हम लोगों को मच्छरो की परेशानी से निजात मिल जायेगी । इसी के बगल प्राथमिक विद्यालय मझौवा सुनील क्वारेन्टीन किए गए व्यक्तियों से हालचाल पूछताछ करने पर बताया कि बम्बई सा मजदूरी करके लौटना पर सुभाष चंद्र, ओमप्रकाश ,राम सहाय,बुध राम, राम लखन ,अखिलेश कुमार सहित तेरह व्यक्तियों ने 22 अप्रैल को मुंबई से आने की बात बताई गई । इन्होने कहा कि ग्राम प्रधान की ओर से खाने पीने की व्यवस्था समय से मिल रही है ।।इस विद्यालय में क्वॉरेंटाइन किए गए सभी व्यक्तियों की स्वास्थ विभाग के चिकित्सक और पुलिस विभाग के लोगों ने भी यहां पर आकर हालचाल जाना ।