Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

इकौना – स्वयं सहायता समूह में एक दर्जन से अधिक किशोरियो हो रही हैं लाभान्वित

इकौना — विकासखंड इकौना ग्राम इकौना देहात चौबे बाबा स्वयं सहायता समूह में एक दर्जन से अधिक किशोरियो महिलाओं ने कोरोना वायरस की किट एवं माक्स बनाकर दर्जनों किशोरियों लाभान्वित हो रही हैं । इस संबंध में विकासखंड इकौना मे तैनात राष्ट्रीय ग्राम आजीविका मिशन प्रबंधक राकेश कुमार त्रिपाठी ने बताया कि इलाहाबाद बैंक की ओर से आर सेटी संस्था लखीमपुर खीरी की ट्रेनर प्रतिभा पाल ने पांच स्वयं सहायता समूह इस विकास खंड इकौना में लगभग 35 महिलाओं को ट्रेनिंग दिलाई गई थी । जिनकी ट्रेनिंग के बाद तीन हजार रुपये मदद देकर उन्हें सिलाई मशीन खरीद कर अपने स्वयं सहायता समूह में किशोरियाँ रोजगार प्राप्त करेगी ।प्रबंधक त्रिपाठी ने कहा कि मुख्य विकास अधिकारी स्रावस्ती के निर्देश पर चौबे बाबा स्वंय सहायता समूह ने पीपीई किट बनाने का काम शुरू करवा दिया गया है । जिसमें 650 किट का आर्डर बनाने के लिए दिया गया है जिसने सैंतीस सा माक्स बनाकर सप्लाई जिले पर मिलेगा मजदूर के वितरित के लिए दी जा चुकी है । इकौना देहात में महुआ बाबा , शंकर समूह ,कल्याणपुर सहायता समूह नत्थापुरवा समूह के पांच सेंटर विकासखंड इकौना में चलाये दी रहे हैं । इससे पैंतीस किशोरियों ने किट व माक्स बनाकर लाभान्वित हो रही हैं ।चौबे बाबा स्वयं सहायता समूह में मनरेगा के लिए जिले स्तर से ग्रामीण क्षेत्रों में किट व मार्स का वितरण कराया गया है । कोरोना वायरस किट की कीमत दो सौ पचास रूपया व माक्स की कीमत पन्द्रह रुपये कीमत निर्धारित की गई है । इसे सरकारी सप्लाई के अतिरिक्त बाजारो मे बिक्री नही की जायेगी । समूह की कोषाध्यक्ष दुर्गावती के नेतृत्व में नीतू कश्यप,कर्ता कश्यप, रूपा, संगीता, सुषमा ,मंजू ,मालती ,बिट्टा , माधुरी सहित अन्य पुरुषों के साथ यह किट की तैयारी की जा रही है । किशोरी सरिता ने बताया कि कोरोना वायरस की बीमारी शुरू होने पर गांव की नौ दीदियों की मशीने चलाकर हम लोग इस किट की तैयारी करके दैनिक रूप से चार किट प्रति दीदी बना रही हैं ।इसमें पीपीई किट में जूता पंजा हाथ व शारीरिक रूप से पहनने के लिए तैयार किया गया है ।किशोरी रूपा और नीतू ने कहा कि पीपीई किट बनाकर विक्री करने से हम सभी को रोजगार मिल रहा है । वही कोरोना वायरस की किट से हमारे चिकित्सक ,स्वास्थ्य कर्मी पुलिस कर्मी भाइयों को किट पाने के लिए व अपने शारीरिक सुरक्षा के लिए पडोसी स्वंय सहायता समूह से खरीद सकते हैं ।
धर्मेन्द्र कुमार गुप्ता ‘ / के के गुप्ता