Breaking News बड़ी खबर राष्ट्रीय

एयरपोर्ट से आना पड़ सकता है वापस,अगर गोवा घूमने की सोच रहे हैं तो रुक जाइए

पणजी: लॉकडाउन के बीच हवाई यात्रा क्या खुले, हर कोई गोवा जाने की होड़ में लगा हुआ है. इस वक्त दिल्ली, मुंबई और अन्य शहरों से ज्यादातर लोग गोवा की फ्लाईटें बुक करा रहे है. शांत समुंद्र के किनारे कम भीड़भाड़ सोचकर हर कोई गोवा पहुंच रहा है. लेकिन अगर आप भी दूसरों की सोशल पोस्ट देखकर अब गोवा की टिकट बुक कराना चाह रहे हैं तो रुक जाइए. शायद आपको गोवा में प्रवेश की अनुमति ही न मिले. गोवा में बीते कुछ दिनों में बड़ी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं. ऐसे में गोवा की प्रमोद सावंत सरकार ई-पास की सुविधा को खत्म करने पर विचार कर रही है. अगर ई-पास की सुविधा समाप्त होती है, तो लोगों को डीएम की मंजूरी के बाद ही यात्रा कर सकेंगे.

राज्य के मंत्री ने कहा कि राज्य में आने वाले लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण संबंधी जांच करनी होती है. ऐसे में बड़ी संख्या में लोगों के आने से मेडिकल स्टाफ पर भी काफी दबाव बढ़ रहा है. इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री के आवास पर शुक्रवार को बीजेपी विधायकों और पदाधिकारियों की बैठक हुई.
बैठक में शामिल होने वाले राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने मीडिया से कहा कि अपने आप जारी होने वाले ई-पास के स्थान पर प्राधिकारियों की मंजूरी से जारी होने वाले यात्रा पास की व्यवस्था फिर से लागू करने पर चर्चा की गई.

उन्होंने कहा, ‘पिछले कुछ दिनों में राज्य में बड़ी संख्या में लोग आए हैं. हमें राज्य में आने वाले लोगों की संख्या सीमित करने की आवश्यकता है. यात्रा पास की पहली प्रणाली लागू होने पर स्वास्थ्य प्राधिकारियों को यह पता होगा कि एक दिन में कितने लोग आने वाले हैं.’ पहले लागू व्यवस्था के तहत राज्य में आने के इच्छुक लोगों के लिए जिलाधिकारी यात्रा पास जारी करता था.

बैठक में भाग लेने वाले राज्य भाजपा अध्यक्ष सदानंद तनावड़े ने भी कहा कि राज्य सरकार उसी व्यवस्था को फिर से लागू कर सकती है, जिसके तहत लोगों को यात्रा पास के लिए आवेदन देना होता था और उस आवेदन को प्राधिकारी मंजूरी देते थे. उन्होंने कहा कि हालांकि अभी इस संबंध में कोई फैसला नहीं किया गया है.