Breaking News उत्तर प्रदेश

करनैलगंज गोंडा-अवैध रूप से जबरन खेतों में बालू खनन करने वाले माफियाओं पर अंकुश न लगने से किसानों ने स्वयं

करनैलगंज गोंडा। अवैध रूप से जबरन खेतों में बालू खनन करने वाले माफियाओं पर अंकुश न लगने से किसानों ने स्वयं मोर्चा सम्हाल लिया है। किसानों ने प्रदर्शन करके जमकर नारेबाजी किया। एल्गिन चरसडी बांध के 8 से 17 किमी के बीच घाघरा नदी के किनारे ड्रेजिंग से छूटे साधारण बालू को 5 ढेर में डंप करके ई टेंडरिंग के माध्यम से निस्तारण कराने के लिये बालू की नीलामी की गई थी। मगर खंड संख्या 1 व 2 के ठेकेदार द्वारा डम्पिंग साधारण बालू के निस्तारण के नाम पर किसानों के खेतों से बालू का खनन कराकर प्रतिदिन करीब 20 लाख रुपये का बिक्री किया जा रहा है। जिससे किसानों का खेत गड्ढे व झील में बदल रहा है। किसानों के विरोध करने पर उन्हें मारने के लिये दौड़ाया जाता है। किसानो का आरोप है, की वह अधिकारियों के साथ क्षेत्रीय विधायक से भी इसकी शिकायत कर चुके हैं। मगर अवैध बालू के खनन पर अंकुश नही लग सका है। किसानों ने खनन के विरोध में प्रदर्शन करते हुये जमकर नारेबाजी किया है। राम आधार, शिवकुमार, गुलइची देवी, सुनीता, व भगौती आदि किसानो का कहना है। कि यदि खेतो में जबरन हो रहे अवैध बालू खनन को बन्द नही कराया गया। आंदोलन को तेज किया जायेगा। एसडीएम व तहसीलदार सिरौली गौसपुर से दूरभाष पर सम्पर्क करने का प्रयास किया गया, मगर वार्ता नही हो सकी। ग्राम बेहटा के लेखपाल नागेंद्र ने फोन रिसीब करना उचित नही समझ।