Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

कानपुर एनकाउंटर: ताबड़तोड़ दबिश देने में जुटी पुलिस,सीएम योगी ने दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर में दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमले और 8 जवानों की शहादत की जानकारी मिलने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) अपराधियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. सीएम लगातार प्रदेश के डीजीपी एचसी अवस्थी (DGP HC Awasthi) और अपर मुख्य सचिव (ग़ृह) अवनीश अवस्थी से संपर्क में हैं. सीएम के निर्देश मिलने के बाद फरार हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे (Vikas Dubey) की गिरफ्तारी के लिए ताबड़तोड़ दबिश देने में पुलिस जुट गई है. वहीं, सीएम योगी ने कर्तव्यपालन के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वाले 8 पुलिसकर्मियों को भावभीनी श्रद्धांजलि दी है. उन्‍होंने शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है.

कानपुर देहात की सीमाएं सील
इस घटना पर डीजीपी एचसी अवस्थी ने कहा कि हत्या के प्रयास मामले में दबिश देने गई टीम पर घात लगाकर फायरिंग की गई. एक सीओ, 1 एसओ, 1 चौकी इंचार्ज, 5 सिपाही शहीद हुए हैं. इसके अलावा 4 सिपाही घायल हैं, जिनमें एक गंभीर है. घायलों के उचित इलाज के निर्देश दिए गए हैं. आरोपी 7-8 के करीब हो सकते हैं. आरोपी विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए पड़ोसी जिलों की पुलिस को भी लगाया गया है. आरोपी की गिरफ्तारी में एसटीएफ को भी लगाया गया है. लखनऊ से एक फॉरेंसिक की टीम भी कानपुर जा रही है. कानपुर देहात में एनकाउंटर के बाद जिले की सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं. पूरे गांव में पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी है.

इस तरह किया हमला

चौबेपुर थाना क्षेत्र के विकरू गांव में दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं. इसमें बिल्‍हौर के सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. एसओ बिठूर समेत 6 पुलिसकर्मी गम्भीर रूप से घायल हैं. सभी घायल पुलिसकर्मियों को गंभीर हालत में रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पता चला है कि हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे और उसके साथियों ने छतों से पुलिस टीम पर गोलियां बरसाईं. इस हमले के बाद बदमाशों ने पुलिस के असलहे भी लूट लिए. जानकारी के मुताबिक, विकास दुबे ने 2001 में कानपुर में थाने में घुसकर राज्यमंत्री की हत्या की थी.