Breaking News उत्तर प्रदेश

कौशांबी- ओवरलोड खनन वाहनों पर चला एआरटीओ का चाबुक

कौशांबी जनपद के विभिन्न यमुना घाटों से ओवरलोड मोरंग (बालू) का परिवहन करने वाले ट्रैक्टर, ट्रक और डंपर के खिलाफ उप संभागीय परिवहन अधिकारी व खनन अधिकारी ने ताबड़तोड़ कार्यवाही करते हुए तीन दिनों में 90 ओवरलोड मोरंग (बालू) लदे वाहनों को सीज किया है। जिले के मंझनपुर कोतवाली इलाके में की गई कार्यवाही के बाद जिला पंचायत गेट से लेकर कलेक्ट्रेट मोड़ तक लगभग 500 मीटर तक बालू लदे वाहनों की कतार लगी हुई है। खनन विभाग के मुताबिक सीज किए गए ओवरलोड मोरंग (बालू) लदे वाहन संचालकों से लगभग 25 लाख रुपया जुर्माने की रकम वसूल की जाएगी।

जिला प्रशासन को पिछले कई दिनों से लगातार सूचना मिल रही थी कि यमुना के विभिन्न घाटों से निकलने वाली मोरंग (बालू) का ओवरलोड परिवहन किया जा रहा है। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के निर्देश पर उप संभागीय परिवहन अधिकारी शंकर जी सिंह व खनन अधिकारी आरपी सिंह ने अपने अधीनस्थों के साथ मंझनपुर कोतवाली इलाके में सघन अभियान चलाते हुए तीन दिन के अंदर 90 ओवरलोड मोरंग (बालू) लदे ट्रैक्टर, ट्रक व डंपर को सीज किया है। ताबड़तोड़ की गई इस कार्रवाई से ओवरलोड बालू वाहनों का संचालन करने वालों में हड़कंप मच गया। कार्रवाई के बाद सीज किए गए सभी वाहनों को मंझनपुर कोतवाली में ले जाकर खड़ा कराया गया है। हालात यह है कि जिला पंचायत गेट के सामने से लेकर कलेक्ट्रेट मोड़ तक लगभग पांच सौ मीटर दूरी तक सीज किए गए वाहनों की कतार लगी है। सड़क की एक लाइन पूरी तरह से ओवरलोड बालू के सीज किए गए वाहनों से भर गया है। खनन अधिकारी आरपी सिंह के मुताबिक अब तक की गई कार्रवाई में 90 वाहनों को सीज किया गया है। इन वाहन संचालकों से लगभग 25 लाख रुपये जुर्माने की रकम वसूल की जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि ओवरलोड मोरंग बालू लदे वाहन के खिलाफ लगातार कार्रवाई जारी रहेगी।