Breaking News उत्तर प्रदेश

कौशांबी – चहेते को दिया माल सप्लाई का टेंडर, बगैर काम के ही 55 लाख का भुगतान

यूपी के कौशांबी में कड़ा ब्लॉक के जिम्मेदारों ने वित्तीय वर्ष 2020 के ग्राम पंचायत की निविदा के टेंडर में जमकर खेल किया है। मोटी कमाई के चक्कर में अपने एक चहेते को मनरेगा योजना के तहत ग्राम पंचायत के विकास कार्य में लगाए जाने वाले माल मसलन ईट, बालू और सीमेंट की सप्लाई के लिए 55 लाख का टेंडर दे दिया। जिम्मेदारों ने मानक को दरकिनार कर ग्राम प्रधान की बेटे के ही नाम के फर्म को दे दिया। जबकि नियमानुसार किसी भी प्रधान या उसके रिश्तेदार को निर्माण कार्य सामग्री की सप्लाई का टेंडर नहीं देना चाहिए। हैरानी की बात यह है कि यह सब खेल मार्च महीने यानि लॉक डॉउन के दौरान ही हुआ। आधे अधूरे काम के दौरान ही जिम्मेदारों ने फर्म के मालिक को 55 लाख का भुगतान कर दिया। ब्लॉक क्षेत्र के 64 ग्राम पंचायतों के विकास कार्य के लिए सिर्फ 2 फर्म को नामित किया गया था। अभी भी बहुत से ऐसे गांव हैं, जहां पर विकास आधा अधूरा ही पड़ा है। सिराथू विधायक शीतला प्रसाद पटेल को घपले बाजी की जानकारी हुई तो उन्होंने डीएम मनीष कुमार वर्मा से शिकायत की। डीएम ने गड़बड़झाले की जांच करवाने की जिम्मेदारी सीडीओ को दी। सीडीओ ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच डीडीओ एवं एई को सौंप दी। अब देखना यह होगा की जांच में घपले बाजी का खुलासा हुआ तो क्या जिम्मेदारों का कार्रवाई होगी।

रिपोर्ट- जयप्रकाश विश्वकर्मा