Breaking News उत्तर प्रदेश

कौशाम्बी-खुले में शौच को मजबूर ग्रामीण

कौशाम्बी जनपद के विकासखंड मंझनपुर के पवारा गाव में स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण में गड़बड़ी करने का आरोप लगा है। आधे-अधूरे शौचालय बनाकर पंचायत को ओडीएफ का दावा किया जा रहा हो। लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है। कई घरों में शौचालय अधूरा है। किसी में दरवाजा नहीं है तो किसी के घर टंकी नहीं बना है। जिसके कारण लोग आज भी खुले में शौच जा रहे हैं।
आपको बता दे कि विकासखंड मंझनपुर के पंवारे गांव में शौचालय का कार्य आधा-अधूरा करवाया गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि प्रधान और सिग्रेटरी कि मिली सरकारी धन का बंदरबांट किया जा रहा है। मानक के विपरीत शौचालय बनवाए गए है। कहीं सीट नही लगी तो कही दरवाज़े नही लगे दर्जनों शौचालय आधे -अधूरे पड़े है। गांव की गोरी देवी ने बताया कि सरकारी आवास बने दो साल हो रहे हैं पर आज तक शौचालय निर्माण नही करवाया गया, जिससे मजबूरन खुले में शौच करने पड़ रहा है। वहीं महादेव सिंह ने बताया कि सालों से शौचालय कार्य अधूरा पड़ा है। मानक के विपरीत पटसेम ईंट लगाकर अधूरा निर्माण कार्य करवाने का आरोप लगाया है। वहीं उमेश कुमार, बचान पाल, सीमा देवी आदि आक्रोशित ग्रामीणों ने अपनी -अपनी समस्याएं मीडिया के माध्यम से अवगत कराया है। खुले में शौच को मजबूर ग्रामीणों ने अपने आला अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराते हुवे जांच की मांग की है।कौशाम्बी से मेराज शेख की रिपोर्ट।