Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

गोंडा – अब प्रवासी श्रमिकों की दुश्वारियां में अहम रोल निभाएगी रेल

कोरोनावायरस के संकट में संकट मोचन बनी भारतीय रेल
लाइन के किनारे बसे गांवोंके प्रवासी श्रमिकों को घर के आस-पास ही मिलेगा रोजगार
मनरेगा के तहत पंचायतें कराएंगे काम मिलेगा रोजगार

रिपोर्ट- राहुल तिवारी /राजेंद्र तिवारी

गोंडा – कोरोनावायरस के इस संकट की घड़ी में विभिन्न शहरों से आए प्रवासी श्रमिक बेरोजगार हैं प्रवासी श्रमिकों की बेरोजगारी को दूर करने के लिए भारतीय रेल ने अहम फैसला लिया है जिससे प्रवासी श्रमिकों की दुश्वारियां दूर करने में भारतीय रेल संकटमोचन की भूमिका में नजर आएगी लाइन के किनारे बसे आस-पास के गांव में रहने वाले प्रवासी श्रमिकों को रेलवा जिला प्रशासन के सहयोग से मनरेगा के तहत काम दिया जाएगा जिससे प्रवासी श्रमिकों के जीवन यापन में चल रही कठिनाइयां दूर हो जाएंगी और वह आस-पास काम पा सकेंगे रेलवे की इस पहल की चारों तरफ सराहना हो रही है
बताते चलें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल के आदेश के बाद पूर्वोत्तर रेलवे ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया है जिसमें जिला प्रशासन व रेल प्रशासन के सहयोग से लाइन के किनारे बसे गांव केविभिन्न शहरों से आए प्रवासी श्रमिकों को रोजगार दिया जाएगा अधिकारियों की माने तो पूर्वोत्तर रेलवे के 14 जिलों में प्रवासी श्रमिकों को तत्काल काम दिलाने के लिए दिशानिर्देश जारी किया गया है देवीपाटन मंडल के गोंडा बलरामपुर श्रावस्ती वा बहराइच जिलों में लाइन के किनारे बसे ग्राम पंचायतों के प्रवासी श्रमिकों को काम दिलाने की प्रक्रिया तेज हो गई है रेल प्रशासन जिला प्रशासन से भी पत्राचार कर रहा है रेल अधिकारी बताते हैं कि रेलवे ग्राम पंचायतों से मनरेगा के तहत कार्य कर आएगी जिससे प्रवासी श्रमिकों को रोजगार मिलेगा ट्रैक के किनारे बैंक पर मिट्टी का कार्य भी पंचायतों के जरिए करवाया जाएगा यही नहीं ट्रैक के किनारे उगी झाड़ियों को पंचायतें प्रवासी श्रमिकों के जरिए साफ कर आएंगे रेल अधिकारियों ने इंजीनियरिंग विभाग को इसके लिए दिशानिर्देश जारी कर दिया है इंजीनियरिंग विभाग के रेल कर्मचारी ग्राम पंचायतों के प्रधानों से संपर्क कर रहे हैं कुछ क्षेत्रों में कागजी कार्रवाई पूरी करने के उपरांत कार्य शुरू करने की तैयारी कर ली गई है सूत्रों की माने तो रेलवे को इसके लिए अलग से बजट नहीं दिया गया है जिससे रेलवे को पूर्व में क्षेत्रवार दिए गए बजट के अनुसार ही कार्य कराना होगा हालांकि क्षेत्रीय रेल अफसर इसे बहुत बड़ा लंगा नहीं मान रहे हैं वह बता रहे हैं कि जितना बजट उनके पास है उसमें पर्याप्त मात्रा में हो कार्य कर ले जाएंगे
गोंडा पर क्षेत्र के गोंडा बढ़नी रेल मार्ग वा गोंडा बस्ती रेल मार्ग वा गोंडा बहराइच रेल पर खंडवा गोंडा कर्नलगंज रेल प्रखंड व मनकापुर अयोध्या रेल प्रखंड पर कार्य कराने से संबंधित प्रक्रिया तेज कर दी गई है रेल लाइन के किनारे की पंचायतों के प्रधानों से रेलकर्मी बराबर संपर्क कर उनसे कार्रवाई करवा रहे हैं
रेलवे की इस अहम पहल ने प्रवासी श्रमिकों के परिवारों में आस जगा दी है जिससे उन्हें घर के आस-पास ही रोजगार मिल जाएगा और उन्हें परिवार पालन में जो जून की रोटी के लिए संघर्ष नहीं करना पड़ेगा सूत्रों की मानें तो 1 ग्राम पंचायत में करीब सैकड़ों प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने की व्यवस्था बनाई गई है कई ग्राम पंचायतों में कार्रवाई पूरी कर लेने की बात बताई जा रही है जहां कार शीघ्र ही शुरू हो जाएगा मनरेगा के तहत कार्य कराने में पंचायतों को भी सुविधा होगी रेलवे की इस पहल से पंचायतों में भी खुशहाली का माहौल जाग गया है बलरामपुर के मौजा सिरसिया सिसिया गांव की कार्रवाई पूरी हो गई है इसी के बगल दो और पंचायतों की कार्रवाई पूरी कर ली गई है इधर बभनान व मसकनवा के बीच 2 गांव की कार्रवाई पूरी हो गई है शीघ्र ही रेल पटेरिया के पास मनरेगा से प्रवासी श्रमिक काम करते नजर आएंगे पूर्वोत्तर रेलवे के गोंडा पर क्षेत्र के एरिया मैनेजर मनीष कुमार ने बताया कि जिले में इस कार्य के लिए नोडल अधिकारी जिला अधिकारी को बनाया गया है इसके अलावा मंडल स्तर पर इसके नोडल अधिकारी सीनियर डीईएन 1 बनाए गए हैं जिनकी देखरेख में कार्य चलेगा