Breaking News नई दिल्ली बड़ी खबर

दिल्ली में हर दिन 1 हजार से ज्यादा केस,अस्पतालों में बेड को लेकर सियासी बवाल

दिल्ली में एक तरफ कोरोना की स्थिति चिंताजनक नजर आ रही है तो दूसरी तरफ दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के बीच तकरार पैदा हो गई है. दिल्ली में बढ़ते कोरोना मरीजों के मद्देनजर अरविंद केजरीवाल सरकार ने अस्पतालों को दिल्लवासियों के लिये रिजर्व रखने का फैसला लिया था, लेकिन उपराज्यपाल ने इस फैसले को पलट दिया है. इस पूरे घटनाक्रम के बीच कोरोना के कम्युनिटी स्प्रेड की गुगली फेंक दी गई है.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि दिल्ली में स्प्रेड बहुत बढ़ रहा है, ऐसे में अगर बाहर के लोग भी यहां आने लगेंगे तो व्यवस्था करना मुश्किल हो जायेगा. साथ ही सत्येंद्र जैन ने कहा कि कम्युनिटी स्प्रेड की टेक्निकेलिटी को छोड़ दें तो हम ये मान रहे हैं कि स्प्रेड बहुत बढ़ा और एम्स डायरेक्टर भी इस चीज को मान रहे हैं. दिल्ली सरकार का ये बयान केंद्र की चिंता बढ़ाने वाला है.

दरअसल, कम्‍युनिटी ट्रांसमिशन या कम्युनिटी स्प्रेड कोरोना वायरस की थर्ड स्‍टेज होती है. इस स्टेज पर स्थि‍तियां खतरनाक स्तर पर पहुंच जाती है. कम्युनिटी स्प्रेड होने पर इससे बचाव काफी मुश्कि‍ल हो जाता है, क्योंकि इस स्टेज में यह पता नहीं चल पाता है कि कोई व्यक्ति कहां से संक्रमित हो रहा है.

अगर, दिल्ली में कम्युनिटी स्प्रेड की बात सामने आती है तो इससे न सिर्फ यहां कोरोनी मरीजों की तादाद बढ़ने की आशंका है बल्कि यह मामला अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी सुर्खियां पकड़ लेगा. दुनिया में ऐसे कम ही देश हैं जिन्होंने कम्युनिटी स्प्रेड फैलने की बात स्वीकारी है.
कम्युनिटी स्प्रेड का मुद्दा भी मंगलवार को दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल की बैठक में भी उठा. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बताया कि भारत सरकार के अधिकारियों का कहना है कि दिल्ली में अभी कम्युनिटी स्प्रेड नहीं है, इसलिये उस पर चर्चा की जरूरत नहीं है. हालांकि, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री इसे टेक्निकलिटी का नाम देकर अब भी स्प्रेड पर फोकस कर रहे हैं.

सत्येंद्र जैन ने एम्स डायरेक्टर के बयान का भी हवाला दिया. कम्युनिटी ट्रांसफर पर एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि दिल्ली-मुंबई में कुछ इलाके हॉटस्पॉट हैं, उन्हीं इलाकों में हम कह सकते हैं कि लोकल ट्रांसमिशन हो रहा है. पूरे देश में ऐसी स्थिति नजर नहीं आ रही है. इसी बयान पर जैन ने कहा है कि एम्स डायरेक्टर ने कम्युनिटी स्प्रेड मान लिया है.

साथ ही सत्येंद्र जैन ने कहा, ‘हम कह सकते हैं कि स्प्रेड है और कोरोना केस बढ़ रहे हैं, लेकिन इसे कम्युनिटी स्प्रेड कहना है या नहीं इस पर केंद्र सरकार को फैसला लेना है.’