Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

धीरे धीरे बढ़ती जा रही है उत्तर प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या

रिपोर्ट वन इंडिया टीम

उत्तर प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या धीरे धीरे बढ़ती जा रही है। अब यूपी के 13 शहरों में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं। इनमें सबसे ज्यादा नोएडा में मरीजों की संख्या है। शनिवार को अेकेले नोएडा के नौ लोगों में इस बीमारी के वायरस होने की पुष्टि हुई है। वहीं मेरठ में चार और वाराणसी में एक-एक मरीज मिले।अब तक यूपी में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 65 हो गई है। इनमें सबसे अधिक 27 मरीज नोएडा के हैं। उनके अलावा आगरा के 10, लखनऊ के आठ, गाजियाबाद के पांच, मेरठ के पांच, पीलीभीत के दो, वाराणसी के दो और लखीमपुर खीरी, बागपत, मुरादाबाद, मेरठ, कानपुर ,जौनपुर व शामली के एक-एक मरीज शामिल हैं । इस तरह अभी तक 13 जिलों में कोरोना वायरस अपने पांव पसार चुका है।

133 मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराया :
शनिवार को 133 संदिग्ध मरीजों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया। नोएडा में जो 27 मरीज कोरोना वायरस संक्रमित हैं, उनमें से 19 एक निजी कंपनी के अधिकारी व कर्मचारी हैं। इस कंपनी का एक अधिकारी बीते दिनों यूनाइटेड किंगडम की यात्रा कर लौटा था और उसमें कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए। उसके संपर्क में आने के कारण धीरे-धीरे दूसरे अधिकारी व कर्मचारी भी कोरोना की चपेट में आ गए। दूसरी ओर कोरोना संक्रमित अब तक कुल 14 मरीजों को स्वस्थ घोषित कर अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। जो मरीज स्वस्थ घोषित हुए हैं उनमें आगरा के सात, नोएडा के चार, गाजियाबाद के दो व लखनऊ का एक मरीज शामिल है। यूपी के अस्पतालों व मेडिकल कॉलेजों में 15 हज़ार आइसोलेशन बेड व 20 हज़ार क्वारंटाइन बेड की व्यवस्था की जा रही है।

2127 मरीजों की रिपोर्ट आई निगेटिव, 52 की आनी बाकी
यूपी में अभी तक कोरोना वायरस के संदिग्ध 2284 मरीजों की जांच करवाई जा चुकी है। इसमें से 2171 संदिग्ध मरीजों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है यानी उनमें कोरोना वायरस नहीं पाया गया। वहीं 52 मरीजों की जांच रिपोर्ट अभी आनी बाकी है।

आरआरटी ने एक दिन में 10 हजार संदिग्ध किए चिह्नित
स्वास्थ्य विभाग की रैपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी ) व डब्ल्यूएचओ की टीम ने शनिवार को 10 हजार से अधिक ऐसे लोगों को चिह्नित किया जो चीन सहित कोरोना वायरस प्रभावित देशों की यात्रा कर लौटे हैं। उन्हें कम से कम 28 दिन के होम क्वारंटाइन में रखने को कहा गया है। अभी तक करीब 50040 ऐसे लोग चिह्नित किए जा चुके हैं जो चीन या कोरोना प्रभावित दूसरे देशों की यात्रा कर वापस लौटे हैं।