Breaking News नई दिल्ली बड़ी खबर

नई दिल्ली- अब आईटीबीपी के कांस्टेबल कोरोना योद्धाओं के लिए गाया गाना

आईटीबीपी के कॉन्स्‍टेबल विक्रमजीत सिंह अपने एक गाने से फिर मीडिया की सुर्खियां बने हुए हैं। विक्रमजीत सिंह बेहद जाना-पहचाना चेहरा हैं। वह अब से पहले वर्ष 2017 में एक निजी चैनल पर प्रसारित होने वाले टेलेंट हंट शो राइजिंग स्‍टार में बतौर प्रतियोगी शामिल हो चुके हैं। उन्‍होंने इस प्रतियोगिता में लोगों का दिल जीत लिया था। हालांकि, वे इसके अंत तक नहीं पहुंच सके, लेकिन उनकी सभी ने तारीफ की थी। इस कार्यक्रम में विक्रम जब पहली बार शामिल हुए थे तब वो अपनी यूनिफॉर्म पहनकर ही इसका हिस्‍सा बने थे। उस वक्‍त उन्‍होंने कहा था कि गाना और आईटीबीपी की ये वर्दी उनकी पहचान है। उस वक्‍त उनके हौसलाअफजाई के लिए उनकी बटालियन भी मंच पर आई थी।
आईटीबीपी में उनकी पहचान एक अच्‍छे गायक के तौर पर भी होती है। बहरहाल इस बार जिसकी वजह से वे सुर्खियां बटोर रहे हैं वो गीत उन्‍होंने कोरोना वॉरियर्स के लिए गाया है। इसकी पंक्तियां कुछ इस तरह से हैं:- ‘तेरे हौसले को सदा मेरा, है ये दुनिया को पैगाम मेरा साथ मिलकर लड़ेंगे हम, मरने से न डरेंगे हम…., हिम्‍मत न हार’। आपको बता दें कि कोरोना संक्रमित मामलों की संख्‍या के मामले में भारत दुनिया में चौथे नंबर पर पहुंच गया है। विशेषज्ञों ने चेताया है कि आने वाले माह में कोरोना के संक्रमित मामलों की संख्‍या तेजी से बढ़ सकती है। दिल्‍ली के उप-मुख्‍यमंत्री और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने तो यहां तक कहा है कि राजधानी में संक्रमितों की संख्‍या पांच लाख को पार कर सकती है। ऐसे में लोगों के मन में इस बीमारी को लेकर दहशत व्‍याप्‍त है।
वहीं, दूसरी तरफ कोरोना के संकट काल में लाखों की संख्‍या में ऐसे लोग हैं जो इसकी शुरुआत से लेकर अब जबकि संक्रमितों की संख्‍या लाखों में है, मजबूती से खड़े हैं और मरीजों की मदद कर रहे हैं। ये अस्‍पतालों से लेकर तमाम दूसरी जगहों पर समाज की सेवा में लगे हुए हैं। सड़कों पर लगी ग्रिल को सेनेटाइज करने से लेकर मुश्किल समय में सड़कों और गलियों की सफाई में ये लोग लगे हुए हैं। ये हमारे समाज का यूं तो अभिन्‍न हिस्‍सा हैं, लेकिन इनका ये त्‍याग और इनकी ये हिम्‍मत ही इन्‍हें दूसरों से अलग करती है। ऐसे में इनका हौसला बढ़ाना हम सबका भी काम है। आपको याद दिला दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद इन्‍हें कोरोना वॉरियर्स बताते हुए इनके सम्‍मान में लोगों से थाली या ताली बजाने के लिए एक घंटा मांगा था। आईटीबीपी के कॉन्स्‍टेबल विक्रमजीत ने भी अब इन्‍हें अपनी तरफ से न सिर्फ शुक्रिया कहा है, बल्कि इनके हौंसलों की तारीफ भी की है।