Breaking News क्राइम नयी दिल्ली

नई दिल्ली-ग्रुप एडमिन को पुलिस ने किया गिरफ्तार, सायबर सेल टीम की छापेमारी शुरू

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने ब्वॉयज लॉकर रूम मामले में 9 और लड़कों से पूछताछ की है. ये सभी छात्र दिल्ली और नोएडा के नामी स्कूलों में पढ़ते हैं. दूसरी तरफ पुलिस की साइबर सेल ने इंस्टाग्राम से कुछ जानकारी मांगी थी. इस बाबत इंस्टाग्राम ने दिल्ली पुलिस की साइबर सेल को ग्रुप के छात्रों के बारे में जानकारी दी है, जिसके आधार पर छापेमारी की जा रही है.
इस मामले में साइबर सेल ने ग्रुप एडमिन को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही एक नाबालिग को हिरासत में लिया है. साइबर सेल ने मामले में ग्रुप एडमिन से पूछताछ की थी, लेकिन ब्वॉयज लॉकर रूम के कुछ लोगों के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई थी. लिहाजा साइबर सेल ने उनके बारे में इंस्टाग्राम से और तकनीकी आधार पर कुछ जानकारी हासिल की, जिसके बाद कुछ छात्रों से पूछताछ की गई.
इससे पहले गुरुवार को जिन छात्रों को पूछताछ के लिए बुलाया गया था, उनमें से दो लोगों को एक बार फिर बुलाया गया, जबकि सात नए लोगों को जांच के दायरे में लाया गया है. साइबर सेल की माने तो ब्वॉयज लॉकर रूम ग्रुप से जुड़े कुल 27 सदस्यों में से कुछ ने कहा कि उन्होंने ग्रुप में कोई अभद्र और अश्लील टिप्पणी नहीं की है. वो चैट का हिस्सा भी नहीं रहे. लिहाजा उनको माफ कर दिया जाए. हालांकि साइबर सेल इनकी भूमिका की बारीकी से जांच कर रही है और यह पता लगाने की कवायद कर रही है कि क्या वाकई में ये जो बोल रहे हैं, वो सच है?

यही वजह है कि इसके लिए बाकायदा पुलिस ने जहां कुछ सदस्यों के मोबाइल फोन को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा है, तो दूसरी तरफ ग्रुप चैट को रिकवर करने की भी कोशिश की जा रही है, ताकि दूध का दूध और पानी का पानी किया जा सके. साथ ही सभी सदस्यों की भूमिका के बारे में भी पता लगाया जा सके.