Breaking News नई दिल्ली बड़ी खबर

नई दिल्ली: घायल जवानों का बढ़ाया हौसला,लद्दाख सीमा पर हालातों का जायजा लेने पहुंचे सेना प्रमुख

नई दिल्ली: लद्दाख सीमा पर भारत-चीन (India China Border Dispute) के बीच तनाव जारी है. बॉर्डर पर तनातनी को कम करने के लिए बीते एक महीने से दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों के बीच बातचीत का दौर जारी है. चीन के साथ तनाव के बीच सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे लेह पहुंचे और ताजा हालातों का जायजा लिया. इसके अलावा उन्होंने लेह स्थित सैनिक अस्पताल जाकर घायल जवानों का हौसला बढ़ाया. सेना प्रमुख का दौरा दो दिन का है.

जानकारी के मुताबिक, सेना प्रमुख लद्दाख में उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल वाई के जोशी के साथ जमीन स्तर संबंधी तैयारियों की समीक्षा करेंगे. इसके अलावा सेना प्रमुख ग्राउंड कमांडरों के साथ चीन के साथ तनाव पर बातचीत करेंगे और फॉरवर्ड स्थानों के हालातों का भी जायजा लेंगे.

सूत्रों के मिली जानकारी के मुताबिक, पूर्वी लद्दाख में चीन की सेना पीछे हटने को तैयार हो गई है. सोमवार को मोल्डो में भारत और चीन के बीच हुई बातचीत के बाद यह फैसला लिया गया है. दोनों देशों के बीच पीछे हटने पर सहमति बनी है.

आपको बता दें कि लद्दाख की गलवान घाटी में हिंसक झड़प के बाद सेना प्रमुख पहली बार लद्दाख दौरे पर हैं. इससे पहले वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने रविवार को लद्दाख का दौरा किया था. लद्दाख सीमा पर चीन के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे. वहीं कई चीनी सैनिक भी मारे गए थे.