Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

नई दिल्ली- पहले भी सैनिकों को दे चुके हैं सरप्राइज,भारत-चीन सीमा विवाद के बीच अचानक लेह पहुंचे PM मोदी

नई दिल्ली- पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley Face off) में 15 जून की रात भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से दोनों देशों में बढ़े तनाव के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लद्दाख पहुंच गए. लेह पहुंचकर प्रधानमंत्री मोदी ने सेना, एयरफोर्स और इंडो तिब्‍बत बॉर्डर पुलिस (ITBP) के जवानों से बात की. ऐसा पहली बार नहीं है जब प्रधानमंत्री मोदी ने देश की रक्षा कर रहे सैनिकों को इस तरह का सरप्राइज दिया है.

समुद्र तल से 11,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित नीमू ज़ांस्कर रेंज से घिरा हुआ है और सिंधु के तट पर है. नीमू दुनिया की सबसे ऊंची और खतरनाक पोस्ट में से एक माना जाता है. अचानक पीएम मोदी के इस दौरे ने हर किसी को चौंका दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी मौजूद हैं. आइए जानते हैं कि इससे पहले कब-कब प्रधानमंत्री मोदी इसी तरह से सेना का हौसला बढ़ाने के लिए पहुंचे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2014 में जब देश की कमान संभाली थी उसके बाद उन्होंने पहली दिवाली सियाचिन में जवानों के साथ मनाई थी. दुनिया की सबसे ऊंची बैटलफील्‍ड पर पहुंचकर प्रधानमंत्री मोदी ने जो इतिहास रचा था उसे वो आज तक निभा रहे हैं. प्रधानमंत्री मोदी हर साल दिवाली सेना के जवानों के साथ ही मनाते हैं. इसके बाद साल 2015 में उन्होंने अमृतसर में दिवाली मनाई. इस दौरान वह डोराय वॉर मेमोरियल पहुंचे और वहां पर उन्होंने 1965 युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि दी. शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद पीएम मोदी सैनिकों के बीच पहुंचे और उन्होंने काफी वक्त सैनिकों के साथ बिताया और बातचीत की.

2016 में इंडो-चीन बॉर्डर पर सैनिकों से की मुलाकात

साल 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-चीन बॉर्डर पर दिवाली ​मनाई. इस दौरान उन्होंने ITBP, इंडियन आर्मी और डोगरा स्‍काउट्स के जवानों से साथ वक्त बिताया और उनसे काफी देर बातचीत की. इसके बाद वह हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्‍पीति पहुंचे और वहां पर ITBP-आर्मी बेस कैंप पर जवानों के साथ मिलकर उन्हें मिठाइयां भी बांटीं.

2017 में एलओसी के जवानों की बढ़ाई ताकत
साल 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एलओसी पहुंचे और कश्मीर के गुरेज सेक्टर में तैनात जवानों से मुलाकात की. इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने सैनिकों से कहा कि जब भी मैं आप लोगों से हाथ मिलाता हूं तो मुझे काफी ऊर्जा मिलती है. मैं देखता हूं कि आप इन कड़े हालात में कैसे तपस्‍या और त्‍याग कर रहे हैं.

2018 में जब उत्‍तराखंड के हारसिल पहुंच गए पीएम
साल 2018 में प्रधानमंत्री मोदी दिवाली मनाने उत्‍तराखंड पहुंचे. यहां पर पीएम मोदी ने हा‍रसिल में जवानों से मुलाकात की और उनका हौसला बढ़ाया. पीएम मोदी ने इस दौरान केदारनाथ मंदिर के भी दर्शन किए.

2019 में एलओसी के जवानों का बढ़ाया हौसला
दिवाली के समय जब हर कोई अपने परिवार के साथ दिवाली मना रहा था. उस वक्त प्रधानमंत्री मोदी जम्‍मू-कश्‍मीर के राजौरी जिले में सैनिकों का हौसला बढ़ा रहे थे. अपने बीच पीएम मोदी को पाकर वहां के सैनिक भी काफी खुश थे.