Breaking News नयी दिल्ली बड़ी खबर

नई दिल्ली-मौलाना साद की तलाश में दिल्ली पुलिस फार्म हाउस पर मारा छापा,

नई दिल्ली. निजामुद्दीन मरकज के मौलाना साद के शामली डिस्ट्रिक्ट के पास कांधला के फार्म हाउस पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम रेड के लिए पहुंची. टीम अपनी सुरक्षा के एहतियातन पीपीई किट में मौजूद है. हाल ही में दिल्ली पुलिस ने मौलाना साद को चेताते हुए कहा था कि उन्होंने अगर कोरोना टेस्ट (COVID-19 Test) नहीं कराया तो महामारी फैलाने के आरोप में उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी.

जमात से जुड़े मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की क्राइम ब्रांच का कहना है कि मौलाना साद ने अभी तक कोरोना का टेस्ट नहीं कराया है. उन्हें यह टेस्ट सरकारी अस्पताल में कराना है. इसके लिए उन्हें एम्स और आरएमएल में टेस्ट कराने का सुझाव दिया गया है.

साद की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने का किया था दावा

हाल ही में क्राइम ब्रांच ने अपने बड़े अफसरों को जानकारी देते हुए कहा है कि मौलाना साद से कहा गया है कि पहले वो अपनी सरकारी जांच कराए. पुलिस जब उनकी रिपोर्ट देख लेगी उसके बाद ही उन्‍हें समन जारी किया जाएगा और आगे की पूछताछ में शामिल किया जाएगा. क्राइम ब्रांच (Crime Branch) का कहना है कि उन्हें जानकारी मिली है कि साद ज़ाकिर नगर के घर में क्वारंटाइन हैं. बावजूद इसके अब तक सरकारी अस्पताल में जाकर टेस्ट नहीं कराया है.

टेस्ट में निगेटिव बताया गया
गौरतलब रहे कि इससे पहले साद के कोरोना टेस्ट कराने की खबर सामने आई थी. इस टेस्ट में उन्हें निगेटिव बताया गया था. मौलाना साद का बेटा होने का दावा करने वाले एक शख्स ने बताया था कि वह कोरोना पॉजिटिव नहीं हैं. उस शख्स ने यह दावा उस वक्त किया था जब न्यूज18 इंडिया के संवाददाता ने जब मौलाना के मोबाइल पर फोन किया तो फोन उठाने वाले शख्स ने अपने का साद का बेटा बताया था.

मौलाना साद का बेटा होने का दावा करने वाले एक शख्स ने बताया था कि वह कोरोना पॉजिटिव नहीं हैं. साथ ही यह खबर भी आ रही है कि मौलाना साद दिल्ली के ज़ाकिर नगर इलाके में ही हैं. निजी डॉक्टरों की टीम साद का हेल्थ चेकअप करती है. वहीं, यूपी में रहने वाले साद के दो रिश्‍तेदार कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं.

दो छोटे भाइयों की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव
मौलाना साद के दोनों रिश्तेदार भी मरकज़ आए थे. जानकारों की मानें तो मौलाना सलमान मौलाना साद के ससुर हैं. ससुर के समधी के दो छोटे भाइयों की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. ये दोनों युवक भी निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज़ में रुके थे.

सूत्रों की मानें तो दिल्ली में तब्लीगी मरकज़ से जुड़े जमातियों को तलाशना अब मुश्किल नहीं होगा. जमाती घर में हों या मस्जिद में उनकी जानकारी आसानी से मिल जाएगी. दिल्ली सरकार की 13 हज़ार टीम अब दिल्ली के हर मोहल्ले और कॉलोनी में कोरोना संक्रामित को तलाशने के लिए निकल रही है. इसे कोरोना फुट वॉरियर्स कंटेंटमेंट एंड सर्विलांस टीम का नाम दिया गया है. इस टीम में पांच लोग होंगे. इसमें ज़्यादातर लोग स्थानीय होंगे.