Breaking News नई दिल्ली बड़ी खबर राष्ट्रीय

नई दिल्ली- रिजाय नायकू की शोकसभा में हिज्बुल का ऐलान,अब गाजी हैदर को मिली दहशतगर्दी की कमान

बस्ती यूपी- हाथ में डंडा लेकर लोगों को धमकाते हुए नजर आया दबंग कोटेदारआतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन ने गाजी हैदर को अपना नया कमांडर बनाया है. दरअसल, बीते दिनों ने हिज्बुल कमांडर रियाज नायकू को सुरक्षाबलों ने मार गिराया था. घाटी के मोस्ट वांटेड रियाज नायकू पर 12 लाख का इनाम था और उसकी तलाश कई सालों से सुरक्षाबलों को थी.

रियाज नायकू के मारे जाने के बाद पाकिस्तान में हिज्बुल के आतंकियों ने शोकसभा का आयोजन किया. इस दौरान गाजी हैदर को नया कमांडर बनाने का ऐलान किया गया. कश्मीर समाचार सेवा (केएनएस) के अनुसार, हिज्बुल चीफ सैयद सलाहुद्दीन ने अपने पसंदीदा आतंकी रियाज नायकू के खोने का रोना रोया.

6 दिन से आतंकियों के पीछे पड़ी थी सेना, जानें- हंदवाड़ा एनकाउंटर की पूरी कहानी

नई दिल्ली- रिजाय नायकू की शोकसभा में हिज्बुल का ऐलान,अब गाजी हैदर को मिली दहशतगर्दी की कमान

केएनएस के बयान में कहा गया कि इस शोक सभा के दौरान गाजी हैदर को जम्मू-कश्मीर का नया ऑपरेशनल चीफ कमांडर और जफर-उल-इस्लाम को डिप्टी कमांडर नियुक्त किय गया, जबकि अबू तारिक को मुख्य सैन्य सलाहकार बनाया गया है. अब सुरक्षाबलों की हिटलिस्ट में गाजी हैदर शामिल हो गया है.

जानिए, कैसे डॉक्टरी की पढ़ाई करते-करते आतंकी बन गया सलाउद्दीन?

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में पिछले कुछ दिनों से आतंकियों की गतिविधियां बढ़ी हैं. हाल के दिनों में पीओके में कई आतंकी कैंप सक्रिय रहे हैं, जो भारत को अशांत करने की साजिश में जुटे रहे हैं. हाल के दिनों में जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकी हमलों में हर साजिश बेनकाब हुई है.

नायकू की मौत से बौखलाया हिज्बुल चीफ सलाउद्दीन, कहा- अब चिंगारी भड़केगी

खुफिया जानकारी के मुताबिक अभी भी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के केल और ताजियान में लश्कर आतंकियों का दो ग्रुप घुसपैठ की फिराक में है. पीओके के लीपा में 6 लश्कर आतंकी, पीओके के जाबरी में अल बदर के 4 आतंकी, पीओके के बत्तल में 5 अल बदर आतंकी घुसपैठ की तैयारी में हैं.

रियाज नायकू के साथी का आखिरी कॉल- ‘हम घिर चुके हैं, मैं घायल हूं, TRF से सतर्क रहना’

इस बीच भारतीय सेना के शौर्य और पराक्रम दिखाते हुए कश्मीर के मोस्ट वांटेड आतंकी रियाज नायकू की कब्र उसी के गांव में बना दी. A++ कैटेगिरी के इस आतंकी का खात्मा सुरक्षाबलों के लिए कितनी बड़ी कामयाबी था, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हिज्बुल मुजाहिदीन के मुखिया सैयद सलाहुद्दीन को इससे खासा सदमा लगा है.