Breaking News नई दिल्ली बड़ी खबर

नई दिल्ली-हमें बहादुर बनना होगा और ऐसे सुधार करने होंगे जो आम नागरिकों के जीवन को छुएं-पीएम मोदी

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए गत 25 मार्च से तीन मई तक के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से हटाने के उपायों और कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति पर सोमवार को विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक कर चर्चा की। देश में कोरोना संकट की शुरुआत के बाद 22 मार्च से अब तक प्रधानमंत्री मोदी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चार बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बैठक कर चुके हैं। आइए जानते हैं आज की बैठक की 10 बड़ी बातें:

लॉकडाउन से सकारात्‍मक परिणाम मिले हैं। पिछले 1.5 महीने में देश ने हजारों लोगों की जान बचाई है।
पीएम ने कहा कि आर्थिक हालात को लेकर ज्यादा चिंतित ना हों, देश की अर्थव्यवस्था की नींव मजबूत, काबू पा लेंगे।
हम अर्थव्‍यवस्‍था पर ध्‍यान देने के साथ ही साथ कोवडि-19 के खिलाफ जंग को भी जारी रखे हुए हैं।
कोविड-19 का प्रभाव आगे कुछ महीनों तक बना रहेगा, इसलिए मास्‍क और फेस कवर जीवन का हिस्‍सा बने रहेंगे।
राज्‍यों को कोविड-19 रेड जोन को ऑरेंज जोन और ऑरेंज जोन को ग्रीन जोन में बदलने की दिशा में काम करना चाहिए।
हमारा लक्ष्‍य त्‍वरित प्रतिक्रिया देना होना चाहिए, हमें दो गज दूरी के मंत्र का पालन जरूर करना चाहिए।
हमें बहादुर बनना होगा और ऐसे सुधार करने होंगे जो आम नागरिकों के जीवन को छुएं।
सभी मुख्‍यमंत्री अपनी प्रतिक्रिया दें, आर्थिक चुनौतियों से निपटने और स्‍वास्‍थ्‍य बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए उपाय सुझाएं।
विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के दौरान उनकी सुविधा और उनके परिवार के जोखिम को ध्‍यान में रखा जा रहा है।
मौसम के बदलाव में विशेषकर गर्मी और मानसून में पैदा होने वाली संभावित बीमारियों को ध्‍यान में रखकर रणनीति बनाएं।