Breaking News उत्तर प्रदेश

प्रतापगढ़-वैश्विक महामारी कोरोना के लाकडाउन को लेकर

*रामपुरखास* के लोगों की जिस *दरियादिली* के साथ बिना थके, इस दौर मे पल भर का भी विश्राम भूलकर *वरिष्ठ कांग्रेस नेता मा. प्रमोद तिवारी जी व क्षेत्रीय विधायक एवं कांग्रेस विधानमण्डल दल की नेता मा. आराधना मिश्रा मोना जी* मदद का सिलसिला जारी रखे हुए है। यह भी रामपुरखास के सेवा मिशन का रोज एक नया प्रेरणास्पद इतिहास लिखने की ओर है। प्रमोद तिवारी जी की पहचान तो शुरू से अपनी *जान को जोखिम मे डालकर रामपुरखास के लोगों की सुरक्षा तथा देखभाल और सुविधाओं के लिए अजेय योद्धा के रूप मे बनी हुई है। दिन-रात जिन आंखो ने विकास का सपना संजो रखा है, आज वहीं आंखे इस समय कोविड-19 मे रामपुरखास के हर एक व्यक्ति की जहां जैसी भी मदद की जरूरत है, वहीं टिकी हुई है। सौभाग्य है कि अपने योग्य पिता की सेवा परंपरा को एक सुयोग्य बेटी के रूप मे उन्हीं के पदचिन्हो पर चलते हुए हमारी विधायक मोना जी भी इस समय अपने खुद के स्वास्थ्य तक की देखभाल को भूलकर रातोदिन जरूरत की जहां से भी आवाज उठ रही है, वहीं वह अपनी आवाज को उस जरूरतमंद की आवाज मे सेवा मिशन को अग्रेसर किये हुए है। कोविड-19 मे ऐसे समय जबकि ज्यादातर क्षेत्र के लोगों को बाहर से घर लौटने के लिए समुचित मदद नहीं मिल पा रही है तो इन जैसे लोगों को अब रामपुरखास की विधायक आराधना मिश्रा मोना और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी रामपुरखास के ऐसे दर्द के मारे मुसीबत दा के एक मात्र मददगार दिख रहे है। गुरूवार को राजस्थान के अलवर जिले के भिवाड़ी मे रहने वाले सांगीपुर के गदियान व कटरिया तथा लालगंज के राजातारा अमावां के दर्जन भर लोग घर आने के लिए जोखिम तक ले बैठे। इन लोगों ने वहां बची खुची पूंजी भी खर्च कर किसी तरह एक मालभाड़े की ट्रक से लखनऊ तक आने का सौदा किया। लेकिन कहते है कि किस्मत जब साथ नही होती तो तकलीफ भी हर तरफ से घेराबंदी किया करती है। ट्रक चालक ने इन मासूम कामगारो को लखनऊ से पचासो किमी दूर यह कहकर उतार दिया कि लखनऊ रेड जोन है, अब पैदल जाओ। थके हारे इन लोगों मे शामिल महिलाएं भी लखनऊ के लिए पैदल चल पड़ी। लखनऊ पहुंचते पहुंचते इन लोगों ने किसी तरह विधायक आराधना मिश्रा मोना तक अपनी मुसीबत की खबर भेजवाई। जानकारी होते ही मा. विधायक मोना ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता मा. प्रमोद तिवारी के साथ कोविड-19 के अफसरो व लखनऊ के प्रशासनिक अफसरो से तुरंत संपर्क साधा। प्रमोद तिवारी जी व मोना जी के प्रयास से जिला प्रशासन ने निजी संसाधन की विषम परिस्थितियो मे अनुमति दी। इसके बाद विधायक मोना जी ने इनके खान-पान का प्रबन्ध कराकर रातो-रात दो इनोवा कार के जरिए गांव भेजवाया। गदियान के रोहित कुमार, गोविन्द, मोहित, संतोष, विकास तथा राजातारा के राहुल ने शुक्रवार को गांव के प्राथमिक विद्यालयों मे क्वारंटीन के दौरान आपबीती सुनाई तो लोग भी भावुक हो उठे। इन लोगों की आंखो मे विधायक मोना की मदद भी भावनाओं की धार मे बहती भी दिखी। तो गांव के लोग भी मुसीबत मे प्रमोद जी व मोना जी की इस तरह की घर जैसी मदद को खुलकर सराहते दिखे।रिपोटॅ,डा.आर.आर.पाण्डेय,प्रतापगढ़।