Breaking News उत्तर प्रदेश

बहराइच -जनपद में आने वाले शत-प्रतिशत प्रवासियों को उपलब्ध कराया जाय रोज़गार: आयुक्त

रिपोर्ट- रमेश कुमार विश्वकर्मा/महिमा विश्वकर्मा
उत्तर प्रदेश बहराइच । कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत उत्पन्न विषम परिस्थितियों में जनपद में बाहर से आने वाले प्रवासियों के लिए अधिक से अधिक रोज़गार के अवसर उपलब्ध कराने तथा उन्हें रोज़गार देने के उद्देश्य से आयुक्त देवीपाटन मण्डल गोण्डा महेन्द्र कुमार ने विकास भवन सभागार में जनपद बहराइच व श्रावस्ती के अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक के दौरान मनरेगा योजना के तहत कन्वर्जेंस विभागों के प्रस्तावों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि 15 जून 2020 से पूर्व सभी औपचारिकताएं पूर्ण कर 15 जून से प्रवासियों को रोज़गार उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
आयुक्त कुमार ने कहा कि मनरेगा के तहत मानव दिवस सृजन कर अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मुहैया कराएं। उन्होंने कहा कि मानव दिवस सृजन को शीर्ष प्राथमिकता प्रदान करते हुए मानव सेवा के दृष्टिकोण से इस कार्य को करें, सभी अधिकारी इस बात का विशेष ध्यान रखें कि कोई भूखा व बेसहारा न रहने पाये। आयुक्त ने यह भी निर्देश दिया कि प्रवासियों व श्रमिकों को कार्य आवंटित करते समय कार्य करने के इच्छुक सभी व्यक्तियों को काम दिया जाये।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी बहराइच शम्भु कुमार ने बताया कि जनपद में आये प्रवासियों की संख्या 93238 है जिसमें स्किल्ड श्रमिक 15285 हैं। स्किल्ड प्रवासियों में 13765 प्रवासी 15 से 35 आयुवर्ग के हैं जिसमें शिक्षित की संख्या 5431 है। श्री कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री युवा-हब अन्तर्गत 5431 पद हेतु रोज़गार सृजन की योजना तैयार की गयी है। स्क्लि मैपिंग के उपरान्त सेक्टरवार प्राप्त आॅकड़े के अनुसार कृषि क्षेत्र अन्तर्गत 03 प्रतिशत, काॅस्ट्रक्शन 38, इलेक्ट्रिकल 13, इलेक्ट्रानिक 08, वाहन चालन 07, आॅटोमोटिव मैकेनिक 02, गारमेन्ट मेकिंग 04, सर्विस सेक्टर 05 व अन्य सेक्टर के 20 प्रतिशत प्रवासी चिन्हित किये गये हैं।
कुमार ने बताया कि मनरेगा के तहत कन्वर्जेन्स विभागों द्वारा 192 कार्य प्रस्तावित कर 896359 मानव कार्य दिवस सृजित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। विभागवार प्रस्तावित कार्य व मानव दिवस का विवरण प्रस्तुत करते हुए बताया गया कि वन विभाग द्वारा 04 कार्य के सापेक्ष 97337, सिंचाई विभाग के 61 कार्य के सापेक्ष 89916, लोक निर्माण विभाग के 127 कार्य के सापेक्ष 475654 मानव दिवस तथा भूमि विकास विभाग द्वारा 6060, आईडब्लूएमपी द्वारा 6503, उद्यान विभाग द्वारा 78308, रेशम विभाग द्वारा 3699, पंचायती राज विभाग द्वारा 41992, पशुपालन विभाग द्वारा 6890 व बाल विकास विभाग द्वारा 90000 मानव दिवस सृजित करने का लक्ष्य प्रस्तावित किया गया है।
जिलाधिकारी कुमार ने आयुक्त को बताया कि मनरेगा योजनान्तर्गत जनपद बहराइच में तालाब निर्माण और सौन्दर्यीकरण, वृक्षारोपण, सर्वऋतु सम्पर्क मार्ग, नाली खडन्जा निर्माण, गौ-आश्रय केन्द्र, निजी पशु शेड (कैटल शेड), आॅगनबाड़ी केन्द्र, प्राथमिक विद्यालय की बाउण्ड्रीवाल, नेफड, वर्मी कम्पोस्ट तथा ग्रामीण क्षेत्रों में पार्कों के निर्माण इत्यादि प्रमुख कार्य संचालित हैं। श्री कुमार ने यह भी बताया कि आपके मार्गदर्शन में जिले की समस्त ग्राम पंचायतों में महात्मा गाॅधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारण्टी अधिनियम (मनरेगा) का कार्य प्रारम्भ कराने पर बहराइच को प्रदेश में अव्वल स्थान प्राप्त हुआ है। जिसके लिए प्रदेश के प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास द्वारा जिले के अधिकारियों के प्रयासों की सराहना भी की गयी है।
बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अरविन्द चैहान ने बताया कि जनपद की 1054 ग्राम पंचायतों में 44385 प्रवासी मज़दूर आये हैं। प्रवासी मज़दूरों के 25030 नवीन जाॅब कार्ड बनाये गये हैं। ऐसे श्रमिकों की संख्या 14047 है जिनके पूर्व में निर्गत जाॅब कार्डों को जोड़ा गया है। जनपद की समस्त 1054 ग्राम पंचायतों में कार्य प्रारम्भ है और नियोजित प्रवासी मज़दूरों की संख्या 25030 है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत ग्रामीण क्षेत्र के गरीब परिवारों को जोड़कर मोमबत्ती, अगरबत्ती, हैण्डवाश, टाॅयलेट क्लीनर, साईनबोर्ड, डलिया बनाने जैसे घरेलू उद्योगों के साथ-साथ शहद व दुग्ध उत्पादन, फूलों की खेती, कुक्कुट व बकरी पालन, मास्क निर्माण, यूनीफार्म सिलाई इत्यादि गतिविधियों के माध्यम से अधिकाधिक लोगों को स्वरोज़गार उपलब्ध कराया जायेगा। इसके अलावा अन्य विभागों समाज कल्याण, खादी एवं ग्रामोद्योग, उद्योग, अल्पसंख्यक, नगर विकास, आरसेटी, प्रधानमंत्री मुद्रा व स्टैण्डअप इत्यादि योजना के माध्यम से भी लोगों को रोज़गार दिलाया जायेगा।
आयुक्त कुमार ने बहराइच व श्रावस्ती जिले के अधिकारियों को निर्देश दिया कि शत प्रतिशत प्रवासियों को रोजगार के अवसर मुहैया कराये जायें। इसमें किसी प्रकार की उदासीनता व लापरवाही न बरती जाय। उन्होंने कहा की मा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी प्रवासियों को उनके मूल जनपदों में रोजगार मुहैया कराने के लिए कटिबद्ध हैं। इसलिए शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता को मद्देनज़र रखते हुए जनपदों में बाहर से आये हुए शत-प्रतिशत प्रवासियों को उनकी स्किल के अनुसार रोजगार उपलब्ध कराया जाय।
इस अवसर पर जिलाधिकारी शम्भु कुमार, मुख्य विकास अधिकारी बहराइच अरविन्द चैहान व श्रावस्ती के अवनीश राय, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, पीडीडीआरडीए अनिल कुमार सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. बलवन्त सिंह, सहायक निदेशक रेशम एस.बी. सिंह, जिला उद्यान अधिकारी पारसनाथ, पीओ डूडा संजय सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी जी.डी. यादव, उपायुक्त उद्योग मोहन शर्मा सहित दोनों जनपदों के अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।