Breaking News उत्तर प्रदेश

बहराइच यूपी-100 बीघे खेत 3लाख 40 हजार में लिए थे एग्रीमेंट तौर पर 15लाख का हुआ नुकसान

– बहराइच यूपी

रमेश कुमार विश्वकर्मा

– उत्तर प्रदेश के जनपद बहराइच के पठानपुरवा दा0 सबलापुर थाना कोतवाली देहात परगना फखरपुर तहसील महसी के फरियाद ने बताया की हमने एग्रीमेंट के तौर पर भाड़े पर जमीन लिया था सब्जी उगाने के लिए बताया सब्जी की फसल तैयार करने में हमने ₹1500000 लाख रुपया खर्चा किया 3 लाख 40 हजार की जमीन भाड़े पर लिया था एग्रीमेंट के तौर पर 1 साल के लिए फरियाद ने बताया लॉक डाउन के कारण सब्जी सही और नियमित समय पर मंडी नहीं पहुंचा पाए जिसे हमारा खेती में लगा सब्जी सड़ गया और खराब हो गया जिनसे हमने कर्जा लेकर फसल सब्जी का बोया था आज वह लोग हमसे पैसे मांगने आ रहे हैं ।

बार-बार उन्होंने बताया 100 बीघा खेत मैं हमने कैराना का फसल बोया था आप देखिए कैमरा घुमाकर चारों तरफ किस तरीके से फसल का नुकसान हुआ है नुकसान होने की वजह से अब हम क्या करें क्या कमाए और क्या बच्चों को खिलाए क्या हम कर्जा वालों को देदेंगे फरियाद ने बताया खेत मालिक को हम फसल बोने से पहले खेत का भाड़ा दे दिए थे । 100 बीघा खेत का भाड़ा 1 साल का 3 लाख 40 हजार रुपया हमने दे दिया लेकिन समस्या तो यह है जो हमने और भी पैसा कर्जा लेकर सब्जी का फसल बोया था सारी सब्जी खेतों में सड कर सुख गई है खराब करने की वजह सिर्फ एक ही चीज है लॉक डाउन लॉक डाउन होने की वजह से हम सब्जी मंडी नहीं पहुंचा पाए उन्होंने कहा जब हम मंडी को माल भेजते थे वहां पुलिस वाले दौड़ा कर मारने लगते थे साथ में गाली देकर भगा देते थे हम लोग मार खाने के डर की वजह से मंडी नहीं जा पाते थे फरियादी ने बताया जब मंडी जाते थे ₹500 मांग करते थे गाड़ी जाने को लेकर नहीं दो तो डंडा मारना चालू कर देते थे मैंने बताया खेत से माल आर टी ओ आरटीओ भी भगा देते थे आरटीओ फोटो खींचकर खेत मालिक को भेजता था देखिए माल नहीं बिका आपका खेत मालिक फरियाद ने बताया फसल खराब होने की वजह से क्या हम खाएंगे क्या हम बच्चों को खिलाएंगे और क्या हम कर्जा दे पाएंगे ऐसी नौबत आ गई है कि बच्चे हमारे भूखे मरने के कगार पर पहुंच गए हैं माल ना बिकने की वजह है लॉक डाउन होने से माल सही ट
समय पर मंडी ना पहुंच पाने की वजह से खेतों में लगा सब्जी का फसल खेत में ही सूख गया वह सड़ गया निवेदन है सरकार से हमें और हमारे परिवार के लिए सहायता करें जिसे हम कर्जा वालों से अपना पीछा छुड़ा सके और अपने बच्चों का पेट भर सके ।