Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

बहराइच- लाॅकडाउन-5 के सम्बन्ध में जिला प्रशासन द्वारा जारी किये गये दिशा निर्देश

रिपोर्ट – रमेश कुमार विश्वकर्मा/महिमा विश्वकर्मा

उत्तर प्रदेश बहराइच –  गृह मंत्रालय, भारत सरकार, के आदेश संख्या-40-3-2020-डीएम-(ए) दिनांक 31 मई 2020 के क्रम में निर्गत शासनादेश संख्या 1382/2020/सीएक्स-3, दिनांक 31 मई 2020 अनुपालन में कोविड-19 महामारी की रोकथाम हेतु जनपद बहराइच में 01 जून से 30 जून 2020 तक लाकडाउन जारी रहेगा।
यह जानकारी देते हुए जिला मजिस्ट्रेट शम्भु कुमार ने बताया कि उक्त अवधि में जनपद के समस्त सिनेमा हाॅल, जिम, तरणताल (स्विमिंग पूल्स), मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार एवं सभागार, एसेम्बली हाॅल और इस प्रकार के अन्य स्थानों की गतिविधियां अग्रिम आदेशों तक स्थगित रहेंगी। यद्यपि खेल परिसर और स्टेडियम को खोलने की अनुमति होगी, किन्तु इसमें दर्शकों हेतु अनुमति नहीं होगी। कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर के क्षेत्रों में धर्मस्थल/पूजा स्थल जन सामान्य हेतु होटल, रेस्टोरेन्ट एवं अतिथि सत्कार सेवाएं, शाॅपिंग माॅल एवं समस्त स्कूल कालेज/प्रशिक्षण/कोचिंग संस्थान इत्यादि के सम्बन्ध में चरणबद्ध तरीके से छूट प्रदान करने के सम्बन्ध में उत्तर प्रदेश शासन का निर्णय प्राप्त होने पर तद्नुसार पृथक से आदेश निर्गत किया जायेगा।
जनपद में चिन्हित हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों के कन्टेनमेन्ट जोन में केवल स्वास्थ्य विभाग, स्वच्छता के कार्य एवं डोर-स्टेप डिलीवरी के कार्य की ही अनुमति होगी। कन्टेनमेन्ट जोन में कड़ा परिधीय नियंत्रण रखते हुए यह सुनिश्चित किया जायेगा कि केवल चिकित्सीय आपातकालीन स्थिति एवं आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं की आपूर्ति की छोड़कर किसी भी व्यक्ति का अन्दर अथवा बाहर की ओर आवागमन नहीं होगा, इस सम्बन्ध में केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय एवं राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों का ध्यान रखा जायेगा। कन्टेनमेन्ट जोन में सघन कान्टेक्ट ट्रेसिंग, हाउस-टू-हाउस सर्विलांस और यथावश्यक चिकित्सकीय गतिविधियां होंगी।
जनपद के सम्पूर्ण नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों में रात्रि-निषेधाज्ञा के अन्तर्गत केवल आवश्यक गतिविधियों को छोडकर रात्रि 09:00 बजे से प्रातः 05:00 बजे तक किसी भी व्यक्ति का आवागमन निषिद्व रहेगा। जनपद में संक्रमण के खतरे के प्रति संवेदनशील व्यक्तियों की सुरक्षा के दृष्टिगत 65 वर्ष के अधिक आयु के व्यक्ति, 01 से अधिक अन्य बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति, गर्भवती स्त्रियां और 10 वर्ष की आयु से नीचे के बच्चे घरों के अन्दर ही रहेंगे, सिवाय ऐसी परिस्थितियों के जिनमें स्वास्थ्य सम्बन्धी आवश्यकताओं हेतु बाहर निकलना जरूरी हो।
जनपद में समस्त सरकारी कार्यालय 100 प्रतिशत उपस्थिति के साथ खुलेगें, किन्तु कार्यालयों में संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत भीड़-़भाड न हो इस हेतु समस्त कार्यालय स्टाॅफ को तीन पालियों में विभाजित करते हुए बुलाया जायेगा। कार्यालयों में सैनेटाइजेशन, फेसमाॅस्क, फेसकवर एवं सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन सुनिश्चित किया जायेगा। जनपद में सभी प्रकार की औद्योगिक गतिविधियों को कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर अनुमति होगी, लेकिन औद्योगिक इकाईयों को थर्मल स्कैनिंग, सैनिटाइजेशन, फेसमाॅस्क व फेसकवर के प्रयोग एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा तथा औद्योगिक गतिविधियों के लिए बसों के इस्तेमाल पर भी उपरोक्त सावधानी बरती जायेगी। उद्योगों में रात्रि शिफ्ट की अनुमति भी इन्हीं शर्तो के साथ होगी, किन्तु रात्रि शिफ्ट हेतु स्टाॅफ के लिए सुरक्षित परिवहन का साधन सम्बन्धित औद्योगिक इकाई द्वारा उपलब्ध कराया जायेगा।
जनपद में जो भी दुकानें खुलेंगी, उनके समस्त दुकानदारों को फेसकवर/माॅस्क ग्लब्स का इस्तेमाल करना होगा एवं दुकान में सैनेटाइजर की व्यवस्था करनी होगी, जिससे कि आने वाले समस्त व्यक्तियों को संक्रमण से बचाया जा सके। किसी भी खरीददार को यदि उसने माॅस्क नहीं पहना है, तो उसे बिक्री नहीं की जायेगी। जनपद के समस्त बाजार को खोलने हेतु दिन अथवा समय का निर्धारण विषयक विस्तृत आदेश स्थानीय व्यापार मण्डल एवं जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद के उपरान्त पृथक् से जारी किया जायेगा। जनपद में कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर सुपर मार्केट आदि खोलने की अनुमति होगी, लेकिन अन्य दुकानदारों के अनुसार उन पर भी सोशल डिस्टेंसिंग, माॅस्क, ग्लब्स एवं सैनेटाइजेशन की शर्ते यथावत लागू रहेंगी।
जनपद में मुख्य सब्जी मण्डी सुबह 04:00 बजे से सुबह 07:00 बजे तक खुलेगी। सब्जी मण्डी का रिटेल वितरण सुबह 06:00 बजे से 09:00 बजे तक होगा। फल-सब्जी मण्डियों को खुले स्थानों में प्रातः 08:00 बजे से सायं 08:00 बजे तक सामान्य लोगों के लिए खोलने की अनुमति होगी। जनपद के शहरी क्षेत्र में कोई भी साप्ताहिक मण्डी नहीं लगेंगी एवं ग्रामीण क्षेत्र में कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर साप्ताहिक मण्डी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ लगाने की अनुमति होगी। जनपद के कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर के क्षेत्र में मिठाई की दुकानें इस शर्त के साथ खोलने की अनुमति होगी कि बैठकर नहीं खिलाया जायेगा एवं बिक्री के समय प्रवेश द्वार पर सैनेटाइजर की पर्याप्त व्यवस्था के साथ, फेसमाॅस्क, फेसकवर, ग्लब्स एवं सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों का कडाई से अनुपालन किया जायेगा।
जनपद में बारात घर खोले जायेगें लेकिन शादी के लिए पूर्व अनुमति लेना आवश्यक होगा। इसमें 30 लोगों से ज्यादा की अनुमति नहीं होगी। शादी/बारात घर पर किसी भी रूप में शस्त्र ले जाना वर्जित होगा, उल्लंघन करने पर वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। जनपद में स्ट्रीट वेण्डर/पटरी व्यवसायी को अपने कार्य करने की अनुमति होगी लेकिन उन्हें अपना फेसमाॅस्क, ग्लब्स एवं सैनेटाइजर का इस्तेमाल करने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए केवल खुले स्थानों पर बिक्री करने की अनुमति होगी। जनपद में कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर सैलून/ब्यूटी पार्लर की दुकानों को सोशल डिस्टेंसिंग एवं प्रवेश द्वार पर सैनेटाइजेशन की व्यवस्था करने के साथ खोलने की अनुमति होगी। इनमें बाल काटने इत्यादि कार्य करने वाले स्टाॅफ द्वारा कार्य करने के दौरान फेस-सील्ड तथा ग्लब्स पहनना अनिवार्य होगा, अन्य स्टाॅफ द्वारा भी फेसमाॅस्क, फेसकवर, ग्लब्स का प्रयोग किया जायेगा। यदि कपडे का इस्तेमाल होता है, तो एक बार ही प्रयोग हो अथवा डिस्पोजेबल कपड़ा/सामग्री का प्रयोग किया जाय।
जनपद में नर्सिंग होम एवं प्राइवेट अस्पतालों की इमरजेन्सी एवं आवश्यक आॅपरेशन करने हेतु स्वास्थ्य विभाग की अनुमति तथा समस्त सुरक्षा उपकरण एवं प्रशिक्षण के बाद खोलने की अनुमति होगी। जनपद में राजस्व ग्राम/मजरा यदि कन्टेनमेन्ट जोन है, तो उक्त ग्राम/मजरे में खेती की जमीन पर रोपाई/बुवाई हेतु न्यूनतम आवश्यकता एवं कृषि मशीनरी जैसे ट्रैक्टर आदि की उपयोग की छूट होगी। जनपद में टैक्सी/मैक्सी कैब सर्विस/थ्री-व्हीलर आॅटो/ई-रिक्शा को चलाने की अनुमति इस शर्त के साथ होगी कि निर्धारित सीट क्षमता के अनुसार ही सवारी/यात्री बैठाये जायेंगे। वाहनों में समस्त यात्रियों को फेसमाॅस्क/फेसकवर पहनना अनिवार्य होगा। वाहनों में सेनेटाइजर पर्याप्त मात्रा में रखना आवश्यक होगा। इसी प्रकार की व्यवस्था निजी कारों के संचालन में भी लागू होगी।
जनपद में कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर सम्पूर्ण क्षेत्रों में दो पहिया वाहनों को निर्धारित सीट क्षमता के अनुसार चलने की अनुमति होगी। दो पहिया वाहन पर यात्रा करने वाले व्यक्तियों को हेलमेट एवं माॅस्क/फेसकवर पहनना अनिवार्य होगा। जनपद में रोडवेज बसों को चलाने की अनुमति इस शर्त के साथ होगी कि निर्धारित सीट क्षमता पर ही संचालन किया जायेगा, स्टैडिंग अनुमति नहीं होगी। संचालन के दौरान चालक/परिचालक को माॅस्क, ग्लब्स का प्रयोग करना अनिवार्य होगा। यात्रियों को भी माॅस्क/फेसकवर पहनना अनिवार्य होगा। साथ ही बसों का नियमित सैनिटाइजेशन किया जायेगा। बसों में बैठने से पूर्व तथा परिवहन निगम बस स्टेशनों पर आने वाले यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग अनिवार्य रूप से की जायेगी। बस स्टेशन अथवा बस स्टेशन के निकट के स्थान पर 108 एम्बुलेंस की सेवा की उपलब्धता इस प्रकार सुनिश्चित की जायेगी कि आवश्यकता पड़ने पर तत्काल प्रयोग की जा सके।
जनपद में स्टेट कैरिज एवं कान्टैªक्ट कैरिज परमिट(निर्धारित सीट तक) धारक बसों को संचालन की अनुमति आवश्यक प्रतिबंधों, सुरक्षा एवं स्वच्छता मानकों के अनुपालन करने के साथ होगी। समस्त प्रकार के वाहनों में यात्रा करने वाले व्यक्तियों को ‘‘आरोग्य सेतु एवं आयुष कवच कोविड ऐप’’ डाउनलोड कर प्रयोग करने हेतु प्रेरित किया जायेगा। सभी प्रकार के वाहनों के संचालन में उपरोक्त निर्देशों का अनुपालन न करने पर मोटर व्हीकल एक्ट एवं एपेडमिक एक्ट के तहत विधिक कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। जनपद में कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर पार्को को सुबह की सैर/व्यायाम हेतु सोशल डिस्टेंसिंग एवं सैनेटाइजेशन एवं सुरक्षा के उपायों के साथ प्रातः 05:00 बजे से प्रातः 08:00 बजे तक व सायंकाल 05:00 बजे से रात्रि 08:00 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। इस दौरान पार्को में पेट्रोलिंग एवं पर्याप्त सुरक्षा-व्यवस्था रखना आवश्यक होगा।
जनपद के कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर खेल परिसर/स्टेडियम को क्रीडा/अभ्यास हेतु खोलने की अनुमति होगी, किन्तु दर्शकों को अनुमति नहीं होगी। जनपद के कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर अन्तर्राज्यीय/अन्तर्जनपदीय माल एवं व्यक्तियों आदि के आवागमन पर कोई प्रतिबन्ध नहीं होगा एवं इस हेतु पृथक से किसी भी प्रकार की अनुमति/अनुमोदन/ई-परमिट की आवश्यकता नहीं होगी। समस्त प्रकार के माल/माल परिवहन जिनमें खाली ट्रक भी सम्मिलित हैं, के आवागमन की अनुमति होगी। जनपद में कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के द्वारा होने वाला आवागमन, घरेलू विमान यात्राएं, विदेशों में फंसे हुए भारतीय के आवागमन, चिन्हित/विशिष्ट व्यक्तियों/ फंसे हुए विदेशी राष्ट्रिकों के विदेश गमन की गतिविधियां निर्बाध बनी रहेंगी।
जनपद के समस्त निजी/सरकारी कार्यालयों/संगठनों के प्रमुख/कार्यालय अध्यक्षों द्वारा समस्त कर्मचारियों/कार्मिकों को संक्रमण से बचाव हेतु अपने मोबाइल फोन में ‘‘आरोग्य सेतु ऐप एवं आयुष कवच कोविड ऐप’’ डाउनलोड करने के लिए प्रेरित किया जायेगा, जिससे कि उसका स्वास्थ्य सम्बन्धी स्टेट्स ऐप पर अपडेट होता रहे। इससे खतरों के प्रति संवेदनशील व्यक्तियों को समय रहते चिकित्सकीय सहायता प्रदान की जा सकेगी। जनपद में सार्वजनिक स्थानों, कार्यस्थलों एवं आवागमन पर फेसकवर/माॅस्क लगाना अनिवार्य होगा। उल्लंघन होने पर उत्तर प्रदेश शासन की अधिसूचना संख्या-1105(1)/पांच-5-2020 दिनांक 16.05.2020 के प्राविधानों के अनुसार अन्य विधिक कार्यवाहियों के साथ जुर्माने से भी दण्डित किया जायेगा।
जनपद में सार्वजनिक स्थानों पर थूकना जुर्माने के साथ दण्डनीय(स्थानीय विधि अनुसार) होगा। जनपद में सार्वजनिक स्थलों/सार्वजनिक परिवहन के उत्तरदायी अधिकारी गाइडलाइन्स के अनुसार न्यूनतम 06 फिट(दो गज की दूरी) की सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करायेंगे। दुकानों पर भी खरीददारों के मध्य फिजिकल डिस्टेंसिंग का अनुपालन सुनिश्चित करना अनिवार्य होगा और एक समय पर 05 से अधिक व्यक्तियों को खड़े होने की अनुमति नहीं होगी। जनपद में भीड़-भाड की गतिविधियां निषिद्व रहेंगी। शादी सम्बन्धी आयोजनों के लिए पूर्व अनुमति लेना अनिवार्य होगा, जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित की जायेगी एवं 30 से अधिक व्यक्तियों के इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होंगी। इसी प्रकार अन्तिम संस्कार से सम्बन्धित गतिविधियों में सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित की जायेगी एवं 20 से अधिक व्यक्तियों के इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी।
जनपद में सार्वजनिक स्थानों पर मदिरा, पान-मसाला, गुटखा, तम्बाकू, धूम्रपान आदि का उपभोग पूर्णतया निषिद्ध होगा। इनकी बिक्री से सम्बन्धित दुकानों पर ग्राहकों के मध्य न्यूनतम 06 फिट की दूरी(दो गज की दूरी) रखना अनिवार्य होगा और एक समय पर 05 से अधिक व्यक्तियों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी। यही व्यवस्था अनुज्ञप्ति प्राप्त मदिरा की दुकानों पर भी लागू होगी। जनपद में कार्यस्थलों पर फेसकवर/माॅस्क लगाना अनिवार्य होगा। इस हेतु औद्योगिक इकाई/कार्यदायी संस्था द्वारा माॅस्क आदि का पर्याप्त स्टाॅक रखा जायेगा। जनपद में प्रत्येक औद्योगिक इकाई/कार्यदायी संस्था के कार्यस्थल के उत्तरदायी अधिकारी कोविड-19 के प्रबंधन हेतु राज्य सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार कार्यस्थल और तत्सम्बन्धी परिवहन के साधन में सोशल डिस्टेंसिंग आदि सुरक्षा मानकों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करायेंगे।
जनपद में प्रत्येक कार्यस्थल पर शिफ्ट के मध्य उचित समयान्तर, भोजनावकाश आदि के समय गाइडलाइन्स के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन एवं एक साथ इकट्ठा न होने देने के उपाय किये जायेंगे। जनपद में प्रत्येक कार्यस्थल पर प्रवेश/निकासी एवं काॅमन प्लेस पर थर्मल स्कैनिंग, हैण्डवाॅस/सैनिटाइजर की व्यवस्था की जायेगी। जनपद के सम्पूर्ण कार्यस्थल क्षेत्र में एवं जन प्रसाधन आदि स्थानों पर लगे दरवाजे/हैण्डल आदि का निरन्तर सैनिटाइजेशन किया जाना अनिवार्य होगा।
जनपद में अन्य जनपदों/राज्यों से पहुंचने वाले प्रत्येक प्रवासी श्रमिकों/कामगारों को शासनादेश संख्या-1081/पांच-5/2020 दिनांक 12.05.2020 का पूर्णतया अनुपालन सुनिश्चित करते हुए कोविड-19 के लक्षणहीन(असिम्टेमेटिक) प्रवासी श्रमिकों को प्रदेश सरकार द्वारा निर्धारित 21 दिन की अवधि तक होम क्वारांटीन रहना होगा और अपने निवास पर आगमन की सूचना स्थानीय निगरानी समितियों एवं स्थानीय स्वास्थ्य विभाग/प्रशासन को दिया जाना अनिवार्य होग, ताकि उनकी गतिविधियों एवं स्वास्थ्य पर सतत् निगरानी हो सके। यदि किसी प्रवासी श्रमिक/कामगार को कोविड-19 के प्रारम्भिक लक्षण प्रतीत हो रहे हों तो उसे तत्काल सर्वसम्बन्धित को सूचित करते हुए चिकित्सालय पहुॅंचना होगा।
जनपद के प्रत्येक कार्य स्थल पर समुचित साफ-सफाई एवं स्वच्छता के सम्बन्ध में आवश्यक ट्रेनिंग की व्यवस्था किया जाना होगा। जनपद में प्रभावी धारा-144 द0प्र0सं0 के अन्तर्गत पारित निषेधाज्ञा का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करना अनिवार्य होगा। जनपद के प्रत्येक क्षेत्र में गृह मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली द्वारा निर्गत विभिन्न (एस.ओ.पी.), केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के नीति निर्देशक सिद्धान्त, लाॅकडाउन गाइडलाइन्स एवं आपदा प्रबन्धन अधिनियम, 2005 का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जायेगा।
यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होगा और इस आदेशों के अनुपालन हेतु नगर क्षेत्र में नगर मजिस्ट्रेट एवं ग्रामीण क्षेत्र में सम्बन्धित उप जिला मजिस्ट्रेट इंसीडेण्ट कमाण्डर होंगे। समस्त सम्बन्धित इंसीडेण्ट कमाण्डर प्रभावी लाॅकडाउन सुनिश्चित कराने एवं इस हेतु सभी बैठकों/सम्पर्को में कोरोना वायरस से बचाव हेतु दिये गये समस्त निर्देशों यथा-हैण्ड सेनेटाईजेशन, सोशल डिस्टेंसिंग एवं पर्याप्त स्वच्छता व्यवस्था की (एस.ओ.पी.) आदि का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित कराने हेतु उत्तरदायी होंगे। उपर्युक्त आदेश अथवा इसके किसी भी अंश का उल्लंघन पाये जाने पर डिजास्टर मैनेजमेन्ट एक्ट, 2005 की धारा-51 से 60 तथा भा.द.वि. की धारा-188 में दिये गये प्राविधानों के अन्तर्गत कार्यवाही की जायेगी।