Breaking News बड़ी खबर राष्ट्रीय

भारत में कोरोना के मामलों ने तेजी पकड़ी,तीन दिन में 10 हजार से अधिक केस

भारत में कोरोना वायरस महामारी ने विकराल रूप ले लिया है. मई की शुरुआत के बाद से ही देश में कोरोना वायरस के आंकड़ों में जबरदस्त उछाल देखने को मिला है. गुरुवार को देश में कुल कोरोना वायरस केस की संख्या 50 हजार का आंकड़ा पार कर चुकी है, जबकि 1700 से अधिक लोगों की मौत हुई है. देश में महाराष्ट्र में सबसे अधिक मामले हैं, जबकि अकेले मुंबई में ही केस की संख्या 10 हजार से अधिक है.
7 मई, सुबह 8 बजे तक भारत में कुल केस (स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार)

कुल केस: 52952

एक्टिव केस: 35902

ठीक हुए: 15266

कुल मौत: 1783

भारत में पिछले तीन में ही दस हजार से अधिक केस सामने आ चुके हैं, जो डराने वाला आंकड़ा है. अगर पिछले तीन दिनों का रिकॉर्ड देखें,

4 मई – 3656

5 मई – 2934

6 मई – 3561

यहां आप ट्रैकर में देख सकते हैं कि किस तरह देश में रोजाना कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं.

अगर राज्यों की बात करें तो भारत में कई ऐसे राज्य हैं, जहां कोरोना वायरस लगातार बेकाबू होता जा रहा है. महाराष्ट्र में तो कुल आंकड़ों की संख्या 16 हजार के पार कर चुकी है, जिसमें 10 हजार से अधिक मामले मुंबई में ही है. महाराष्ट्र में अबतक कुल 651 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. महाराष्ट्र के बाद गुजरात, दिल्ली, तमिलनाडु और राजस्थान में कोरोना वायरस का अधिक प्रकोप देखने को मिला है.

भारत में सबसे अधिक प्रभावित पांच राज्य

महाराष्ट्र 16758 केस, 651 मौत

गुजरात 6625 केस, 396 मौत

दिल्ली 5532 केस, 65 मौत

तमिलनाडु 4829 केस, 35 मौत

राजस्थान 3317 केस, 92 मौत

देश में कोरोना वायरस से ठीक होने वाले लोगों की संख्या में भी तेजी से सुधार हो रहा है. पिछले दिन करीब एक हजार लोग देश में कोरोना महामारी को मात देकर ठीक हुए, जिसके साथ ही कुल आंकड़ा 15 हजार के पार चला गया. भारत उन देशों में शामिल है, जहां पर कोरोना वायरस के केस में ठीक होने वालों की संख्या में तेजी से सुधार हो रहा है.

आपको बता दें कि देश में 30 जनवरी को कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था, शुरुआती तीन केस केरल से सामने आए थे. उसके बाद मार्च में कोरोना वायरस ने भारत में रफ्तार पकड़ी थी. 24 मार्च को देश में लॉकडाउन लगाया गया था, जो कि 17 मई तक जारी रहेगा. 3 मई को लॉकडाउन 3.0 की शुरुआत हुई थी, जिसमें कुछ छूट दी गई थी.