Breaking News बड़ी खबर मध्य प्रदेश स्वास्थ्य

भोपाल,मध्य प्रदेश- शिक्षा विभाग ने कोरोना वायरस को लेकर स्कूलों में जारी की गाइडलाइन

भोपाल: देश भर में कोरोना वायरस(Corona Virus) को लेकर दहशत फैली हुई है। इसके बढ़ते खतरे को देखते हुए मध्यप्रदेश में भी अलर्ट जारी कर दिया है। कोरोना वायरस से बचाव के लिए स्कूल शिक्षा विभाग एडवाइजरी(Advisory) जारी की है। स्कूल शिक्षा विभाग ने गाइनलाइन जारी करते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण से बच्चों को बचाने के लिए स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम चलाने के निर्देश दिए हैं।

विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी ने आदेश जारी कर सभी जिलों के कलेक्टर, जिला शिक्षा अधिकारी और जिला परियोजना समन्वयक को स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के लिए कहा है। इसके तहत बोर्ड परिक्षार्थियो को छोड़कर जिन छात्रों को बुखार, सर्दी, खांसी और जुकाम हो, शिक्षक उनके माता-पिता से संपर्क कर स्वस्थ होने तक स्कूल न भेजने का अनुरोध करे। वही सर्दी खांसी जुकाम से पीड़ित कोई विद्यार्थी 10वीं 12वीं की बोर्ड परीक्षा दे रहा है तो केंद्र अध्यक्ष यह तय करेंगे कि विद्यार्थी मास्क(face mask) पहनें और अच्छे सेनेटाइजर से हाथ साफ करे।

किसी को भी खांसी, जुकाम, बुखार या सांस लेने में दिक्कत हो तो तुरंत चिकित्सक से जांच कराए। परीक्षा कार्य में लगे किसी शिक्षक को सर्दी खांसी होती है तो वह मास्क पहनकर स्कूल आएं ओर हैड सैनिटाइजर(hand sanitizer) का उपयोग करें। विद्यालय में पढ़ने वाले या परीक्षार्थी या उसके परिवार में या जहां व रहता है, किसी को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया जाता है तो प्रिंसीपल तुरंत इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दें। बता दें कि देश भर में फैल रहे कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव व स्कूली बच्चों में जागरूकता लाने के लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने मप्र स्कूल शिक्षा विभाग को पत्र लिखा था जिसके बाद यह एडवाइजरी जारी की गई।