Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

मोतीगंज,गोण्डा- अचानक नहर में पानी छोड़े जाने पर कटी नहर…

 

नहर कटने से सैकड़ों बीघे में भरा पानी फसलें हों रही है बर्बाद।

मोतीगंज,गोण्डा- अचानक सरयू नहर में पानी छोड़े जाने से कटी नहर। सैकड़ों बीघे खेतों में भरा पानी गन्ने की फसल बर्बाद हो रही हैं।

बताते चलें कि मनकापुर विकास खंड के राजस्व गैजडा के मजरा कन्धई जोत के पास नहर कट जाने से सैकड़ों बीघे खेतों में पानी भर गया है।

नहर की खुदाई हो जाने के बाद कन्धई जोत (गैजडा)के लोगों ने जल निकासी के लिए सरयू नहर खण्ड 3 के अधिशासी अभियंता से प्रार्थना पत्र देकर गांव के जल निकासी के लिए अंडर ग्राउंड साइफन बनावाए। की मांग कन्धई जोत (गैजडा) के तत्कालीन प्रधान जैबूल निशा एवं कन्धई जोत गांव निवासी राम बरन मिश्रा के नेतृत्व में क़रीब तीन दर्जन लोगों ने हस्ताक्षर युक्त पत देकर साइफन बनावाए जाने की मांग।विगत 20 जून 2006 को की थी जिसे अधिशासी अभियंता द्वारा गांव वालों की मांग को स्वीकार कर लिया था।और सरयू नहर विभाग द्वारा साइफन बनवाने के लिए खुदाई कार्य भी पूरा हो चुका था। लेकिन विभागीय उदासीनता के चलते नहर पर साइफन की निर्माण नहीं हो सका।

कन्धई जोत गांव वालों का कहना है कि साइफन बनाने के लिए खुदाई की गई उसके बाद साइफन निर्माण के लिए कोई भी ठेकेदार नहीं आया और अधूरा कार्य होने से अचानक नहर में पानी आने के कारण नहर कटकर खेतों मे पानी भर गया।और फसले डूबकर बर्बाद हो गई।

बिदित हो कि सरयू नहर खण्ड 3 बेनीपुर रजवाहा की दो दशक पूर्व नहर की खुदाई हुई है। तब से पहली बार उक्त नहर का पानी कन्धई जोत पहुंचा और वहां के लोगों के लिए मुसीबत बन गया।कन्धई जोत गांव के पास अचानक नहर का पानी पहुंचाने से माइनर का निर्माण के लिए खुदाई की गई जगह पर पानी पहुंचते ही नहर कट गई और सैकड़ों बीघे खेतों में पानी भर गया।

कन्धई जोत गांव निवासी राम बरन मिश्रा,काशी राम मिश्रा, केदारनाथ मिश्रा,पारस नाथ मिश्रा, वेदप्रकाश मिश्रा, समेत दर्जनों लोगों ने सरयू नहर की उच्च अधिकारियों से तत्काल साइफन निर्माण कराएं जाने व कटी नहर को ठीक कराएं जाने की मांग की है।