Breaking News नयी दिल्ली बॉलीवुड

लाइमलाइट से दूर रहना पसंद करते हैं. सर्वदमन बनर्जी पंख नाम से चलाते हैं. एनजीओ

कोरोना वायरस की वजह से देशभर में लॉकडाउन चल रहा है. इस दौरान कई सारे सीरियल्स को रीटेलिकास्ट किया जा रहा है. इसमें दूरदर्शन के शक्तिमान, महाभारत और रामायण जैसे सीरियल्स प्रमुख हैं. अब इसमें एक नाम और जुड़ गया है. वो है कृष्णा. छोटे पर्दे पर शायद सर्वदमन बनर्जी के इस शो से पहले कृष्ण पर कोई भी सीरियल नहीं आया था. इस सीरियल का निर्देशन रामानंद सागर ने किया था. सीरियल काफी पॉपुलर हुआ था और भगवान कृष्ण के रोल में सर्वदमन डी बनर्जी का चेहरा लोगों के दिलों में बस गया था.

सर्वदमन बनर्जी की मुस्कान इतनी प्रभावी थी कि सिर्फ कृष्ण ही नहीं उन्हें करियर के दौरान कई सारे स्पिरीचुअल रोल्स में काम करने का मौका मिला. उन्होंने साल 1983 में आदि शंकराचार्य पर बनी फिल्म में लीड रोल प्ले किया था. इस फिल्म का निर्देशन जीवी अय्यर ने किया था. ये संस्कृत में बनी पहली भारतीय फिल्म थी. फिल्म को नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था.

इसके बाद उन्होंने साल 1985 में दत्ता दर्शनम मूवी में काम किया था. इस फिल्म में उन्होंने महान आध्यातमिक संत दत्तात्रेय का रोल प्ले किया था. इसके बाद साल 1998 में वे स्वामि विवेकानंद की बायोपिक में लीड रोल प्ले करते नजर आए थे. फिल्म में मिथुन चक्रवर्ती ने रामकृष्ण परमहंस का रोल प्ले किया था. इस मूवी में हेमा मालिनी मां काली के रोल में थीं.
कृष्णा सीरियल करते समय ही बढ़ने लगा था अध्यात्म के प्रति रुझान

स्वामि विवेकानंद के बाद सर्वदमन ने खुद के अंदर अध्यात्म को महसूस करना शुरू कर दिया. उनके मुताबिक कृष्ण का रोल प्ले करते समय ही उनका रुझान अध्यात्म की तरफ बढ़ने लगा था. इसके बाद वे फिल्म इंडस्ट्री से दूर हो गए. उन्होंने साल 2016 में एमएस धोनी बायोपिक में धोनी के कोच का रोल प्ले किया था.

उन्होंने कहा कि उनके अंदर आध्यात्मिक एनर्जी बचपन से ही जोर मार रही थी. पांच साल के थे तो बोलते नहीं थे, लोग सोचते थे कि लड़का गूंगा है. फिर पढ़ाई लिखाई करके एक्टिंग में आए और ये श्री कृष्णा वाला प्रोजेक्ट चल रहा था तभी उनका मन इस सबसे हट गया. उन्होंने रामानंद सागर से हाथ जोड़ लिए वे इसके आगे कोई शो नहीं करेंगे.