Breaking News झारखंड बड़ी खबर

लोहरदगा- ससुराल से नाबालिग बच्ची ने लगाई गुहार,’मुझे बचा लीजिए..मेरी जबरदस्ती शादी करा दी गई’

लोहरदगा- झारखंड में चाइल्ड लाइन (Child Line) के नंबर 1098 पर सोमवार को एक फोन आता है. फोन करने वाली एक नाबालिग बच्ची (Minor Girl) होती है. नाबालिग बेहद डरी हुई आवाज में कहती है सर, मुझे बचा लीजिए, मेरी मर्जी के खिलाफ मेरी शादी (Marriage) हुई है. मैं नाबालिग हूं. और मेरी मर्जी के बिना मेरी शादी कर दी गई है.

चाइल्ड लाइन से तत्काल लोहरदगा चाइल्ड लाइन और बाल कल्याण समिति को सूचित कर नाबालिग के बारे में पूरी जानकारी दी जाती है. साथ ही आगे की कार्रवाई और नाबालिग को रेस्क्यू कराने का अनुरोध किया जाता है. सूचना मिलते ही बाल कल्याण समिति लोहरदगा, प्रखंड विकास पदाधिकारी कुडू मनोरंजन कुमार, कुडू अंचलाधिकारी कमलेश उरांव और कुडू थाना पुलिस सक्रिय हो जाते हैं. टीम के सदस्यों ने कुडू के डोरोटोली गांव में पहुंचकर नाबालिग को रेस्क्यू कराते हैं.

नाबालिग गुमला जिले के रायडीह प्रखंड क्षेत्र की रहने वाली है. उसका विवाह विगत 27 जून को रायडीह में एक मंदिर में संपन्न हुआ था. कुडू डोरोटोली से बारात गई थी. विवाह के बाद नाबालिग ससुराल आ गई थी. लेकिन मौका पाकर नाबालिग ने चाइल्ड लाइन को फोन किया और खुद को बचाने की गुहार लगाई. जिसके बाद उसे ससुराल से छुड़ाकर लाया गया.

नाबालिग फिलहाल बाल कल्याण समिति के पास है. बच्ची के आगे के भविष्य के लिए बाल कल्याण समिति में उसे रख कर आगे की कार्रवाई की जा रही है. इस मामले में दोनों परिवारों से बात कर पूरे मामले की जांच की जा रही है.

रेस्क्यू टीम में कुडू प्रखंड विकास पदाधिकारी सह प्रखंड बाल विवाह निषेध पदाधिकारी मनोरंजन कुमार, कुडू अंचलाधिकारी कमलेश उरांव, बाल कल्याण समिति सदस्य बालकृष्णा सिंह, अर्पणा कुमारी, चाइल्डलाइन समन्वयक पीटर तिग्गा, सहायक अवर निरीक्षक मुरारी कुमार, चाइल्डलाइन के टीम मेंबर शामिल थे.