Breaking News उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय शिक्षा

शिक्षामित्रों को जून महीने का मानदेय मिलेगा या नहीं? पढ़ें स्कूली शिक्षा के डीजी का इंटरव्यू Lucknow News in Hindi

कोरोना (COVID-19) काल में ड्यूटी के एवज में जून महीने का मानदेय देने की मांग की है. हालांकि स्कूली शिक्षा के महानिदेशक विजय किरण आनंद ने बताया कि उनके पास अभी तक कोई औपचारिक मांग नहीं पहुंची है. महानिदेशक ने कहा कि उन्हें शिक्षामित्रों की ड्यूटी लगाए जाने की भी कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा कि हमारी तरफ से शिक्षामित्रों को कोई एक्स्ट्रा काम नहीं दिया गया है. सिर्फ ऑनलाइन पाठशाला चलाने के आदेश दिए गए हैं.  न तो हमने किसी की ड्यूटी लगाई है. अभी तो स्कूल बंद हैं और वह भी 2 महीने से बंद हैं. उसके बाद भी शासन ने सैलरी तो सभी को अभी तक दी ही है.

इस मामले पर news18 से विजय किरण आनंद ने और क्या कहा, पढ़िए इस विस्तृत इंटरव्यू में…

सवाल – शिक्षामित्रों से जून के महीने में भी सेवाएं ली जा रही हैं, ऐसे में इसके बदले क्या उन्हें कोई मानदेय मिलेगा?

जवाब – नहीं. कहां सेवाएं ली जा रही हैं?

सवाल – जैसे क्वारंटाइन सेंटर में या डाटा फीडिंग में…
जवाब – नहीं, अभी तक तो मेरे पास ऐसी कोई मांग नहीं आई है. न ही कोई लेटर आया है और बात यह भी है कि शिक्षामित्रों के मानदेय के लिए भारत सरकार से धनराशि दी जाती है. 11 महीने के हिसाब से दी जाती है. इसी से शिक्षामित्रों के मानदेय का भुगतान होता है. मेरे पास अभी तक कोई औपचारिक मांग नहीं आई है और न ही कोई ऐसा प्रत्यावेदन आया है. साथ ही कहां ऐसे लोग काम कर रहे हैं? इसकी भी जानकारी नहीं दी गई है. हां, यह जरूर है कि घर से पाठशाला चलाने के लिए सभी टीचर से रिक्वेस्ट किया गया है. पोर्टल क्लासेज, ऑनलाइन क्लासेज के लिए कहा गया है. इसमें उन्हें कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए. इसके लिए बकायदा शासनादेश भी जारी किया गया है. इसके अलावा कोई ऐसा निर्देश नहीं दिया गया है.

सवाल – क्या इस बाबत शिक्षामित्रों की तरफ से कोई डिमांड नहीं आई है ?
जवाब – नहीं, कोई डिमांड नहीं आई है उनके पास.

सवाल –  सोशल मीडिया में तो बहुत कैंपेन चल रहा है?
जवाब –  सोशल मीडिया में क्या कैंपेन चल रहा है? इसके बारे में मेरे पास कोई जानकारी नहीं है. न तो हमने किसी की ड्यूटी लगाई है. अभी तो स्कूल बंद हैं और वह भी 2 महीने से बंद हैं, आप भी जानते हैं. उसके बाद भी शासन ने सैलरी तो सभी को अभी तक दी ही है.

सवाल – आपके लेवल पर कोई इंफॉर्मेशन नहीं है कि कोरोना से निपटने में शिक्षामित्रों की ड्यूटी लगाई गई है?
जवाब – कोविड 19 में प्रशासन ड्यूटी लगाता है और सभी की लगाता है. भले ही स्कूल बंद हों या अन्य दूसरी इकाइयां बंद हों. डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत जिलाधिकारी द्वारा सभी की ड्यूटी लगाई जाती है. वैसे अब तो कोई स्कूल भी क्वारेंटाइन सेंटर या शेल्टर होम नहीं हैं. सभी लोग लगभग इससे बाहर आ चुके हैं. हमारी तरफ से शिक्षामित्रों को कोई एक्स्ट्रा काम नहीं दिया गया है. सिर्फ ऑनलाइन पाठशाला चलाने के आदेश दिए गए हैं.

सवाल – उनका कोई प्रत्यावेदन आए कि जून महीने का मानदेय दिया जाए तो?
जवाब – उनका क्या कहना है? मैं देखता हूं. कौन से जनपद में और कहां उनकी ड्यूटी लगाई गई है? यह भी मैं देख लेता हूं.