Breaking News उत्तर प्रदेश

सुल्तानपुर-कोरोना वायरस पर भारी आस्था – महीनों बाद बिजेथुआ महावीर धाम में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, पुलिस प्रशासन के छूटे पसीने

**
सुल्तानपुर कोरोना काल में महीनों बाद पौराणिक धर्म स्थली बिजेथुआ महावीर धाम में मंगलवार को सुबह करीब पांच बजे से ही श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया।
सुबह करीब आठ बजे से श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती गई।जिसे नियंत्रित करने में पुलिस प्रशासन के पसीने छूट गए। प्रशासन की तरफ से दर्शनार्थियों के प्रवेश और निकास के लिए अलग-अलग द्वार बनाए गए हैं। भक्तों को गर्भगृह में प्रवेश वर्जित कर झांकी दर्शन करने की अनुमति दी गई है।
सुबह करीब पांच बजे मंदिर परिसर पहुंचे कादीपुर क्षेत्राधिकारी सुरेन्द्र कुमार हमराही राजेंद्र प्रसाद सिंह, अखिलेश यादव,आसनारायन यादव आदि के साथ सूरापुर चौकी प्रभारी दयाशंकर मिश्रा द्वारा मास्क लगाए हुए, बिना प्रसाद व माला फूल लिए दर्शनार्थियों को ही मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति दी गई। धाम परिक्षेत्र में प्रसाद सहित माला फूल की दुकानों को बंद रखा गया। जिससे व्यापारी हतोत्साहित हुए। मंदिर में बिना मास्क के किसी को भी प्रवेश नहीं करने दिया गया। पुलिस प्रशासन की सक्रियता के कारण दूर दराज से आए दुकानदारों को वापस लौट जाना पड़ा।
इनसेट में-
*पुलिस डर से लगाया मास्क, फिजिकल डिस्टेंस रहा फेल*
सूरापुर
कालिनेमि वधस्थली बिजेथुआ महावीर धाम में पहुंचे श्रद्धालुओं को कोरोना वायरस का कोई भय नहीं रहा। पुलिस को देखकर दर्शनार्थी मास्क लगाते नजर आए। धाम में दर्शन पूजन करने उमड़े दर्शनार्थियों में छोटे-छोटे बच्चे व बुजुर्ग भी शामिल रहे जिन्हें फिजिकल डिस्टेंस का कोई मतलब नहीं समझ आ रहा था। मंदिर द्वार पर क्षेत्राधिकारी सुरेन्द्र कुमार ध्वनि विस्तारक यंत्र से मास्क लगाने व फिजिकल डिस्टेंस बनाने की अपील करते रहे।

ब्यूरो रिपोर्ट —
अखिलेश जायसवाल
सुल्तानपुर