Breaking News उतराखंड क्राइम बड़ी खबर

OLX के नाम पर ठगी करने वाले 4 राजस्थान से गिरफ़्तार… देहरादून में दर्ज थे ठगी के दो मामले

देहरादून. देहरादून पुलिस ने एक ऐसे गिरोह को गिरफ़्तार किया है जिसके सदस्य खुद को फौजी बताकर ओएलएक्स के ज़रिए ठगी किया करते थे. इस गिरोह के 4 सदस्यों को दून पुलिस ने राजस्थान से गिरफ्तार किया है. ये बदमाश इतने शातिर हैं कि फौजी के रूप में अपनी पहचान साबित करने के लिए इन्होंने कई नकली दस्तावेज़ बना रखे थे. पुलिस को इनके पास से 23 फ़र्ज़ी आर्मी कैंटीन कार्ड, 45 फ़र्ज़ी आधार कार्ड, 8 फ़र्ज़ी आर्मी आई कार्ड, 42 पैन कार्ड और 45000 रुपये कैश मिले हैं. कुछ दिन पहले ही इस गिरोह ने नेहरु कॉलोनी के एक शख्स को सोफा खरीदने के नाम पर ठगा था, जिसकी शिकायत पर जांच करती हुई पुलिस इस गिरोह तक पहुंची.

सोफ़ा खरीदने के नाम पर ठगी

दरअसल नेहरु कॉलोनी के देवांचल विहार में रहने वाले प्रेम सिंह धनाई ने अपना पुराना सोफा बेचने के लिए ओएलएक्स पर विज्ञापन डाला था. इसके कुछ दिन बाद एक व्यक्ति ने उन्हें फ़ोन किया और सोफ़ा खरीदने की बात कही. धनाई का विश्वास जीतने के लिए उसने खुद को फौजी बताया.

इस शातिर बदमाश ने कहा कि सोफ़े की रकम वह पेटीएम से सीधे धनाई के बैंक में ट्रांस्फ़र कर देगा. इस बहाने उसने प्रेम सिंह के मोबाइल पर आया ओटीपी पूछ लिया. इसके कुछ देर बाद प्रेम सिंह के खाते से 34 हज़ार रुपये निकल गए.
कार बेचने के नाम पर ठगा

पुलिस के अनुसार हरियाणा के करनाल के प्रिंस कुमार ने 31 अगस्त को राजपुर थाने में ओएलएक्स के नाम पर ठगी की शिकायत की थी. शिकायत के अनुसार प्रिंस कुमार ने ओएलएक्स पर एक ऑल्टो बेचने का विज्ञापन देखा तो उसमें दिए गए मोबाइल पर फ़ोन किया. आरोपित ने खुद को देहरादून कैंट में तैनात फौजी बताया.

अपना नाम गोपाल कृष्ण शेखर बताते हुए उसने प्रिंस को आर्मी का कार्ड भी दिखाया. कार का सौदा होने पर प्रिंस ने उसे ऑनलाइन 26 हजार रुपये भेज दिए, मगर बाद में पता चला कि वह ठगी का शिकार हो गया है.

Advertisement: 0:35

अब तक 300

इन दोनों केसों की जांच के दौरान पुलिस टीम को आरोपितों के मोबाइल नंबर की लोकेशन राजस्थान के भरतपुर में मिली. भरतपुर पहुंची टीम को पड़ताल के दौरान पता चला कि अरबाज़ खान नाम का आदमी गिरोह बनाकर ऐसी वारदातों को अंजाम दे रहा है.

मंगलवार को पुलिस ने अरबाज के साथ तालीम खान (पुत्र नजीर अहमद), अफरोज और तालीम खान (पुत्र जाकिर हुसैन) को गिरफ्तार कर लिया. भरतपुर के रहने वाले इन बदमाशों ने कई फ़र्ज़ी फेसबुक आईडी और पेटीएम आईडी बना रखी थीं. पूछताछ में इन्होंने पुलिस को बताया कि ये लोग अब तक करीब 300 लोगों को ऐसे ही ठग चुके हैं.