Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

इकौना,श्रावस्ती- गौशाला सीताद्वार  में धन का आवंटन पूर्ण रूप से न होने के कारण मनरेगा मजदूरों का वेतन सितमंबर मे शुभारंभ

इकौना – गौशाला सीताद्वार  में धन का आवंटन पूर्ण रूप से न होने के कारण  मनरेगा मजदूरों का वेतन सितमंबर मे शुभारंभ के दिन से मात्र बीस दिन का ही दिया गया है । गौशाला में साफ सफाई ,चारा वह समरसेबुल से पानी की व्यवस्था मनरेगा मजदूरों द्वारा की जा रही है । गुरुवार को हिंदुस्तान टीम में गौशाला सीताद्वार पर जाकर गायों की खानपान एवं साफ-सफाई के संबंध में गौशाला केयरटेकर भूपेंद्र कुमार से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि मनरेगा के तहत बारह मजदूर जगराम,विकाऊलाल,रामू,अनिलकुमार आदि  इस गौशाला मे चारा खाने-पीने, साफ सफाई और देखरेख के लिए तैनात हैं । इसमें दो मजदूर राजेनदर ,छोटकऊ  इस गौशाला की चौकीदारी करते है । इन बारह मजदूरो को मात्र 20 दिन का वेतन पांच माह मे दिया गया है । जिससे मजदूरो को उधारी पर काम चलाना पड रहा है ।उन्होंने  कहा कि सितंबर माह से गौशाला संचालित हुई थी  उस समय 556 गाय का रजिस्ट्रेशन कराया गया था । जिसमें 117 गाय सरकार की योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों को वितरित की गई हैं । मौजूदा समय मे 424गायों की देखभाल करके चारा आदि दी जाती है । पनदरह वृद्ध जानवर जो जनवरी माह में काफी ठंड होने के कारण चननी पर पलासटिक पननी लगाकर  गायों की ठंड की बचाव  करने के बावजूद उनकी मौत   प्राकृतिक रूप से हो गई थी । जिन्हें किसी प्रकार की कोई बीमारी नहीं थी । उन्होंने कहा कि दैनिक रूप से साफ सफाई और समरसेबल के माध्यम से गायों को साफ पानी पीने की व्यवस्था है । जानवरों की चार बड़े बड़े चन्नी बनाए गए हैं जिसमें एक सौ गांवों का चारा खाने की व्यवस्था है । गायों के लिए भूसा और कन दिया जाता है । इन गायों को खाने के लिए 70 किलो कन  दिया  जाता है ।   सौर ऊर्जा के प्लांट से चलाया जा रहे समरसेबल पंप व विद्युत व्यवस्था से इस गौशाला को संचालित किया जाता रहा है ।