खेल Breaking News नई दिल्ली राष्ट्रीय

IPL 2020:हार के बाद फंस गए विराट कोहली,काफी बदलाव आया जिसकी हमने उम्मीद नहीं की थी. यह अजीब है‘स्थिति स्पष्ट है. अंतिम मैच जीतो और शीर्ष दो में जगह बनाओ

शारजाह. रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के कप्तान विराट कोहली ने इंडियन प्रीमियर लीग में शनिवार को यहां सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ एकतरफा मुकाबले में पांच विकेट की हार के बाद कहा कि उन्हें पता था कि इतने रन पर्याप्त नहीं होने वाले थे. उन्होंने ये भी कहा कि अब उनके लिए आखिरी मैच करो या मरो की लड़ाई है. सनराइजर्स हैदराबाद ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर को सात विकेट पर 120 रन पर रोकने के बाद साहा (39) और मनीष पांडे (26) के बीच दूसरे विकेट की 50 रन की साझेदारी की बदौलत 14.1 ओवर में पांच विकेट पर 121 रन बनाकर जीत दर्ज की. जेसन होल्डर ने भी अंत में 10 गेंद में तीन छक्कों और एक चौके की मदद से नाबाद 26 रन की पारी खेलकर टीम को लक्ष्य तकपहुंचाया

जीतना होगा आखिरी मैच
कोहली ने कहा कि अब उन्हें अपना अंतिम मुकाबला हर हाल में जीतना होगा. उन्होंने कहा, ‘स्थिति स्पष्ट है. अंतिम मैच जीतो और शीर्ष दो में जगह बनाओ. यह शानदार मैच होगा क्योंकि दोनों टीमों (दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मुकाबला) के 14 अंक हैं. ’

हमारा स्कोर जीत के लिए नहीं था काफी
कोहली ने पांच विकेट की हार के बाद पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान कहा, ‘ये रन पर्याप्त नहीं थे. हमने सोचा था कि 140 का स्कोर अच्छा रहेगा लेकिन हालात में काफी बदलाव आया जिसकी हमने उम्मीद नहीं की थी. यह अजीब है. हमने सोचा था कि मौसम अच्छा रहेगा और अधिक ओस नहीं होगी. मुझे लगता है कि पूरी पारी के दौरान हमने बल्ले से साहसिक प्रदर्शन नहीं किया. विरोधी गेंदबाजों ने सही लाइन और लेंथ से गेंदबाजी की और पिच का अच्छा इस्तेमाल किया.’

जीत का श्रेय गेंदबाजों को
दूसरी तरफ सनराइजर्स के कप्तान डेविड वार्नर ने जीत का श्रेय गेंदबाजों को दिया. वार्नर ने कहा, ‘‘यहां आने पर हमें पता था कि क्वालीफाई करने के लिए हमें शीर्ष टीमों को हराना होगा. अच्छे संतुलन और अच्छी साझेदारी के साथ हमने जीत दर्ज की. आज सारा श्रेय गेंदबाजों को जाता है. विकेट धीमा हो गया है. गेंदबाजों को सामंजस्य बैठाना था. सिर्फ यॉर्कर या धीमी गेंद से काम नहीं चल सकता. आपको विकेटों पर गेंदबाजी करनी होगी. इतनी ओस गिरने से मैं हैरान नहीं था. जब यहां मौसम ठंडा होता है तो काफी ओस गिरती है.’