Breaking News उतराखंड बड़ी खबर

MDH वाले बाबा धर्मपाल का हिमाचल से था खासा लगाव, धर्मशाला में है उनकी ससुराल

धर्मशाला. महाशय दी हट्टी (MDH) मसाला कंपनी (Spice) के मालिक धर्मपाल (Dharampal) का गुरुवार को दिल्ली में निधन (Death) हो गया. वह भले ही दिल्ली में रहा करते थे, मगर उनका हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला (Dharamshala) से बेहद ज़्यादा लगाव था. धर्मपाल को जब भी अपने कारोबार से फ़ुर्सत मिलती थी वो अपने ससुराल धर्मशाला आना कभी नहीं भूलते थे. महाशय धर्मपाल धर्मशाला में अंतिम बार अपने ससुराल में साले के पोते की शादी में शरीक होने दो साल पहले ही आए थे. धर्मपाल की आकस्मिक मौत से उनकी ससुराल में भी शोक का माहौल है. धर्मपाल 98 साल के थे.

इससे पहले उनकी पत्नी लीलावंती का करीब 20 साल पहले ही दिल्ली में निधन हो गया था. काबिलेगौर है कि धर्मपाल और लीलावती का विवाह पाकिस्तान के सियालकोट में हुआ था. दोनों परिवारों को बंटबारे के वक्‍त भारत आना पड़ा, जिसके बाद उनका ससुराल धर्मशाला, जबकि वह दिल्ली के साथ लगते गुड़गांव में जाकर बस गए.

धर्मपाल को जब भी अपने कारोबार से फ़ुर्सत मिलती थी वो अपने ससुराल धर्मशाला आना कभी नहीं भूलते थे.

धर्मशाला में स्वर्गीय नत्थू राम खबरवंदा थे उनके ससुर
धर्मशाला में स्वर्गीय नत्थू राम खरवंदा उनके ससुर थे, जबकि स्वर्गीय ओम प्रकाश खरवंदा उनकी पत्नी के भाई व स्वर्गीय कृष्णा खरवंदा उनकी भाभी थी. वर्तमान में धर्मशाला में ओम प्रकाश खरवंदा के बेटे सुमेश खरवंदा व उनकी पत्नी पूनम खरवंदा तथा दो बेटे विक्रम तथा विक्रांत व ओम प्रकाश खरवंदा के दूसरे बेटे पंकज व उनकी पत्नी बीना और बेटे सोहेल और एकाग्र यहां रह रहे हैं.

अंतेयष्‍ट‍ि में शामिल नहीं हो सकेगा ससुराल से कोई सदस्य
सुमेश खरवंदा व पंकज खरवंदा ने बताया वे सभी बुआई जी के देहांत से आहत हैं. आज डेढ़ बजे अंतेयष्टि में नहीं पहुंच पाए, इसलिए अब चौथे में दिल्ली पहुंचेंगे. उनके बुआई अक्सर यहां पर आते रहते थे. धर्मशाला उन्हें पसंद था. बुआ का देहांत करीब बीस साल पहले ही हो गया था. दो साल पहले ही उनके बेटे की शादी में महाशय धर्मपाल धर्मशाला आए थे.