Breaking News नई दिल्ली नयी दिल्ली बड़ी खबर बॉलीवुड मनोरंजन हॉलीवुड

बापू के अंतिम संस्कार की शूटिंग में शामिल हुए थे 4 लाख लोग, भीड़ देखकर हैरान हो गए थे बेन किंग्सले

नई दिल्ली. आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती (Mahatma Gandhi Jayanti 2021) है. इस मौके पर हम आपको उनकी लाइफ आधारित एक फिल्म से जुड़ा किस्सा बताने जा रहे हैं. महात्मा गांधी पर वैसे तो राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय स्तर पर कई सैंकड़ों फिल्में बनी हैं, लेकिन फिल्म ‘गांधी’ में बेन किंग्सले ने मोहनदास करमचंद गांधी जो किरदार निभाया, वो बापू के चरित्र के काफी करीब है. बेन किंग्सले ब्रिटिश एक्टर हैं और उन्होंने साल 1982 में आई फिल्म ‘गांधी’ में महात्मा गांधी का किरदार निभाया था. बेन खुद भी इस किरदार को अपने लिए लकी मानते हैं. उनका मानना है कि इस फिल्म और किरदार की वजह से उन्हें फिल्म इंडस्ट्री में पॉपुलैरिटी हासिल हुई.

बेन किंग्सले (Ben Kingsley) ने साल 2019 में फिल्म जुड़े कुछ किस्से शेयर किए, जिनमें से एक फिल्म में दिखाए गए अंतिम संस्कार से जुड़े सीन के बारे में था. उन्होंने खुलासा किया कि इस सीन के लिए लगभग 4 लाख लोग आए थे. जीक्यू को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा था,”मुझे लगता है कि गांधी का किरदार निभाने के लिए मुझे संयोगवश खूब प्यार मिला. भारत में मेरी मांग ने मुझे पॉपुलर बनाया. भारत में लोग बड़े उदार हैं. आप जानते हैं, कोई कम्प्यूटर जनरेटेड इमेजनरी (सीजीआई) नहीं था, क्या आप इस पर विश्वास कर सकते हैं? उनके अंतिम संस्कार में 4 लाख लोग शामिल हुए थे. यह मुझे असाधारण लगा.”

बेन ने यह भी स्वीकार किया कि उन्हें लगता है कि गांधी को बड़े पर्दे पर फिर से निभाना असंभव है. उन्होंने कहा, “मुझे याद है कि रिचर्ड एटनबरो ने मुझे उनके साथ महात्मा गांधी के कुछ फुटेज देखने के लिए बुलाया था और मैंने एक बार में पांच घंटे की न्यूज रील फुटेज देखी और सोच लिया कि यह निभा पाना असंभव है, सिनेमा छोड़ दो और फिर दोबारा फुटेज नहीं देखनी है. लेकिन एटनबरो ने असंभव को संभव कर दिखाया. यह सबसे बड़े बर्फ से ढके पहाड़ की तलहटी पर खड़े होने जैसा था जिसे आपने कभी यह सोचते हुए देखा है कि मैं एक फुट ऊपर जाऊंगा और पांच फुट नीचे खिसकूंगा. लेकिन उन्होंने ये संभव कर दिखाया.”

फिल्म ‘गांधी’ में रोहिणी हट्टंगडी, सईद जाफरी, ओम पुरी, अमरीश पुरी और नीना गुप्ता (Neena Gupta) समेत कई भारतीय और विदेशी कलाकारों शामिल थे. फिल्म ने ऑस्कर में 8 कैटेगरी में अवार्ड जीते. कॉस्ट्यूम डिजाइनर भानु अथैया अकादमी पुरस्कार जीतने वाली पहली भारतीय बनी थीं.