Breaking News उतराखंड बड़ी खबर राजनीति होम

टिहरी-  विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही नेताओं के बीच पोस्टर वॉर शुरू

टिहरी-  विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही नेताओं के बीच पोस्टर वॉर शुरू हो गया है. टिहरी के घनसाली में तो बीजेपी नेताओं के बीच घमासान मचा हुआ है. उत्तराखंड का ‘मिनी जापान’ कहे जाने वाले घनसाली विधानसभा क्षेत्र में तो कई ऐसे लोग भी टिकट के लिए जुगत भिड़ा रहे हैं, जो विदेशों में रहते हैं. देश के बाहर अच्छा-खासा कारोबार जमाए हुए बिजनेसमैन भी इस चुनाव में विधायक बनने की होड़ में शामिल हैं.

टिहरी जिले में सीमान्त इलाके में ‘मिनी जापान’ कही जाने वाली घनसाली विधानसभा सीट में अधिकतर लोग विदेशों में होटल रेस्टोरेंट कारोबारी हैं. घनसाली विधानसभा 2012 में रिजर्व सीट हुई थी और बीजेपी से भीमलाल आर्य विधानसभा पहुंचे. 2016 में भीमलाल आर्य के कांग्रेस में जाने के बाद बीजेपी से शक्तिलाल शाह ने 2017 में जीत दर्ज की. अब तीसरी बार घनसाली विधानसभा सीट रिजर्व है, जहां अब निर्वतमान विधायक के साथ ही विदेशों में होटलों का बिजनेस करने वाले दर्शन लाल टिकट की होड़ में हैं. वहीं बीजेपी के जिला उपाध्याक्ष सोहनलाल खंडेलवाल भी टिकट पाना चाहते हैं. निर्वतमान विधायक ने ‘5 साल के वादे कम, विकास ज्यादा’ के पोस्टर लगवाए हैं, जिसके आधार पर वह अपना टिकट कन्फर्म मान रहे हैं.

मूल रूप से घनसाली के रहने वाले विदेशों में होटल रेस्टोरेंट का कारोबार कर रहे बिजनेसमैन दर्शन लाल भी बीजेपी से ही टिकट की दावेदारी कर रहे हैं. दर्शन लाल का कहना है कि मूलभूत सुविधाओं की कमी से घनसाली के लोग आज भी जूझने को मजबूर हैं. जनप्रतिनिधि किसी भी विकास कार्य के लिए 30 प्रतिशत रिश्वत पहले ही मांग लेते हैं. वहीं बीजेपी के जिला उपाध्याक्ष सोहन लाल खंडेलवाल भी 2017 में अपनी पत्नी के लिए टिकट मांग रहे थे, लेकिन नहीं मिला. इसके बाद अब वे वरिष्ठता के आधार पर जनता के बीच जाकर बीजेपी से खुद को टिकट का दावेदार बता रहे हैं.

उत्तराखंड में भले ही विधानसभा चुनाव में अभी समय हो और टिकट बंटवारे को लेकर भी पार्टी में मंथन चल रहा हो, लेकिन नेता जनता के बीच जाकर अपना टिकट कन्फर्म करने की जुगत में लगे हैं. ऐसे में घनसाली में बीजेपी में मचे घमासान में देखने वाली बात होगी पार्टी किसको टिकट देती है.