Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर राजनीति

कौशांबी – हिन्दू खतरे में नहीं, बल्कि भाजपा की कुर्सी खतरे में है- राजभर

यूपी के कौशांबी में सिराथू विधानसभा के नियामतपुर बाग में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, भागीदारी पार्टी एवं राष्ट्र उदय पार्टी की तरफ से भागीदारी को लेकर वंचित, पिछड़ा, दलित एवं अल्पसंख्यक महापंचायत का आयोजन किया गया। महापंचायत में तू पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं सुधार सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए कार्यकर्ताओं ने उनका फूल मालाओं से जोरदार स्वागत किया। उन्होंने अपने अर्कवंशी समाज को जगाने के लिए संकल्प लिया। इसके अलावा यह भी कहा कि 2022 के चुनाव में अर्कवंशी समाज का एमएलए बनाऊंगा। इसके बाद वह भाजपा पर हमलावर हो गए कहा कि 2022 के चुनाव में पूर्वांचल में भाजपा को जमीन नहीं दूंगा। क्योंकि अब पूर्वांचल में उनकी दाल गलने वाली नहीं है। कहा कि भाजपा जनता के साथ धोखाधड़ी कर रही है। हम ही वोट देते हैं और भाजपा हमसे ही बिजनेस करती है। जनता को हाथ उठाकर संकल्प दिलाते हुए कहा कि जब तक भाजपा की विदाई नहीं, तब तक कोई ढिलाई नहीं। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के लोग कहते हैं कि हिंदुत्व खतरे में नहीं, बल्कि भाजपा खतरे में है। 2022 में भाजपा की सरकार जा रही है। राजा भैया एवं मुलायम सिंह यादव के मुलाकात पर उन्होंने चुप्पी साध लिया और कहा कि यह राजनीति है। हर किसी से कोई न कोई मिलता रहता है। पत्रकारों ने सवाल किया कि योगी जी राम राज्य की बात करते हैं लेकिन प्रयागराज में एक ही परिवार के 4 दलितों की हत्या हुई है तो उन्होंने कहा राम राज्य में कौन सी ऐसी बात है शंबूक ऋषि की भी हत्या हुई थी। वह भी शुद्र परिवार से थे। शूद्रों का तो गर्दन काटा ही जाएगा क्योंकि वह अपनी सुरक्षा चाहते हैं, अधिकार चाहते हैं। केशव जी पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा कि पहले तो वह अपना स्टूल बदल लें। तब उसके ऊपर उंगली उठाएं। सीएम योगी के 2014 के बाद भारत का बदलता चेहरा देखा है के सवाल पर कहा कि हा उन्होंने जरूर देखा है क्योंकि वह पहले साधु थे, नेता हो गए।