Breaking News बड़ी खबर महाराष्ट्र मुंबई

महाराष्ट्र बिल्डिंग हादसा: मलबे में 26 घंटे तक दबी रही 60 साल की बुजुर्ग, NDRF की टीम ने ज़िंदा निकाला

रायगढ़. महाराष्ट्र (Maharashtra) के रायगढ़ जिले में पांच मंजिला आवासीय इमारत ( Building Collapsed) के मलबे में दबे लोगों को बचाने का काम लगातार जारी है. इस हादसे में अब तक 13 लोगों की जान जा चुकी है. इस बीच घटनास्थल से एक हैरान कर देने वाली तस्वीर सामने आई है. एनडीआरफ की टीम ने 60 साल की एक बुजुर्ग को बाहर निकाला. ये महिला करीब 26 घंटे तक मलबे में दबी रहीं. राहत की बात ये है कि ये बुजुर्ग अब भी जिंदा है.

खतरे से बाहर
NDRF के अधिकारियों के मुताबिक मेहरुनिसा अब्दुल हमीद काज़ी नाम की ये महिला बिल्डिंग की पांचवीं मंजिल पर रहती थीं. सोमवार शाम को ये हादसा हुआ था. इसके बाद से ही इस महिला का कोई पता नहीं चल रहा था, लेकिन बुधवार रात करीब साढ़े नौ बजे NDRF की टीम इस महिला को मलबे बाहर निकालने में कामयाब रही. उन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया गया है. डॉक्टरों का कहना है कि फिलहाल वो खतरे से बाहर हैं.

चार साल के बच्चे को बाहर निकाला
इससे पहले मंगलवार को दोपहर में 19 घंटे के बाद मलबे में फंसे चार साल के एक बच्चे को बाहर निकाला गया था. NDRF और स्थानीय प्रशासन के स्टाफ ने ताली बजाकर खुशी ज़ाहिर की थी. 4 साल के मोहम्मद बांगी को मलबे से सुरक्षित बाहर निकाला किसी चमत्कार से कम नहीं था. हालांकि उसकी मां की इस हादसे में मौत हो गयी.

अब तक नौ लोगों को मलबे से निकाला गया
पुलिस ने बताया कि मृतकों में बचाए गए बच्चे की 30 वर्षीय मां और दो बहन- एक सात साल की और एक दो साल की- शामिल हैं. उन्होंने बताया कि इमारत ढहने के दौरान पत्थर लगने से घायल एक व्यक्ति की सोमवार रात को दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गयी. पुलिस ने बताया कि मृतकों में पांच पुरुष और पांच महिलाएं शामिल हैं

केस दर्ज
अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने मंगलवार को तारिक गार्डन के बिल्डर और आर्किटेक्ट सहित पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. बिल्डर फारुक काजी, सलाहकार बाहुबली धामने और आर्किटेक्ट गौरव शाह के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की अलग-अलग धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.