Breaking News झारखंड बड़ी खबर

PHOTOS: वापस बुलाने को फ्लाइट की टिकट भेज रहीं कंपनियां,लॉकडाउन से बड़े शहरों में मजदूरों का टोटा

झारखंड से मजदूरों का पलायन महानगरों की ओर इन दिनों तेजी पर है. बड़ी बात यह है कि महानगरों से बड़ी-बड़ी कंपनियां इन मजदूरों के लिए फ्लाइट की टिकट भेजकर इन्हें बुला रही हैं. (सांकेतिक फोटो)

हर दिन राज्यभर के मजदूरों की भीड़ रांची एयरपोर्ट पहुंच रही है. मजदूरों का जत्था मुंबई, दिल्ली और दूसरे महानगरों की ओर रवाना हो रहा है. रांची एयरपोर्ट से मुंबई रवाना होने वाले मजदूरों ने बताया कि उन्हें मासिक वेतन के बजाय दैनिक मजदूरी के हिसाब से काम दिया जा रहा है. इसमें स्किल के हिसाब से मजदूरी तय की गई है. सामान्य मजदूरों के लिए जहां ₹400 से 500 दैनिक मजदूरी है.. वहीं स्किल्ड मजदूरों को प्रतिदिन ₹700 देने की बात तय हुई है.

झारखंड के पलामू, हजारीबाग, सिंहभूम, गढ़वा, और संथाल समेत दूसरे जिलों से मजदूरों का पलायन रांची एयरपोर्ट से महानगरों की ओर लगातार जारी है. मजदूरों ने बताया घर पर रोजगार नहीं मिलने की वजह से पलायन करना उनकी मजबूरी है. लेकिन इतने कम पैसे में मुंबई जैसे महानगर में उनका गुजारा कैसे चलेगा. इस पर ज्यादातर मजदूरों ने चुप्पी साध ली.

राज्य सरकार ने प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने को लेकर मुख्यमंत्री श्रमिक योजना समेत कई योजनाओं की शुरुआत की थी. इसके अलावा मनरेगा से भी मजदूरों को जोड़ने की पहल की गई, लेकिन फिलहाल उसका फायदा जमीनी स्तर पर मजदूरों को मिलता नहीं दिख रहा.

दरअसल कुछ महीने पहले ही देशभर से मजदूरों का जत्था काफी संघर्ष के बाद अपने घरों की ओर लौटा था. इसमें हजारों मजदूर महानगरों से पैदल या फिर साइकिल चलाकर अपने घर लौटने को मजबूर हुए थे, लेकिन आज वही मजदूर फिर पलायन के लिए मजबूर हैं.