Breaking News उत्तर प्रदेश

प्रतापगढ़ में महज 50 रुपये के लिये जिंदगी दांव पर लगा रहे हैं युवा, उफनती पुलिया से पार कराते हैं वाहन

प्रतापगढ़. राजस्थान (Rajasthan) के विभिन्न हिस्सों में पिछले दिनों हुई भारी बारिश (Heavy rain) के बाद कई नदी-नाले उफान पर हैं. राज्य के सीमावर्ती इलाके में स्थित प्रतापगढ़ (Pratapgarh) जिले में भी सभी नदी नाले उफान पर चल रहे हैं. ऐसे में पुलियाओं और रपटों के ऊपर भी कई फीट पानी बह रहा है. पुलियाओं के ऊपर पानी बहने से कई गांव का संपर्क आपस में कटा (Disconnected) हुआ है.

वीडियो को देखकर की धड़कनें बढ़ जाती हैं
ऐसे में लोगों को आने जाने के लिए अपनी जान का जोखिम लेना पड़ रहा है. लेकिन इस बीच कई युवा ऐसे हैं जो महज 50 रुपये के लिये अपनी जिंदगी दांव पर लगाकर लोगों के वाहन पुलिया के ऊपर पूरे वेग से बहते पानी के बीच निकालने का जोखिम उठा रहे हैं. ऐसा ही एक वीडियो हाल ही में वायरल हुआ है. इस वीडियो को देखकर की धड़कनें बढ़ जाती हैं. यह वीडियो 25-26 अगस्त का बताया जा रहा है. जिले में बारिश के मौसम में सबसे ज्यादा परेशानी पीपलखूंट और धरियावद उपखंड के लोगों को उठानी पड़ती है. यहां ऐराव नदी और वडोर नदी के उफान पर होने से लोगों को आने जाने के लिए तेज बहते पानी के बीच पुलियाओं को पार करना पड़ता है.

महज 50 रुपए में पार कराते हैं वाहन
पीपलखूंट उपखंड क्षेत्र में पुलिया के ऊपर पानी बहने के दौरान कई युवा वाहन पार कराने के लिए मात्र 50 रुपये के लिए अपनी जान जोखिम में डाल देते हैं. यहां एराव नदी पर बनी पुलिया से रोजाना सैकड़ों लोग जिला मुख्यालय और आसपास के क्षेत्रों में नौकरी के लिए जाते हैं. लेकिन पुलिया पर उफान मारते पानी के कारण मोटरसाइकिल निकालने का बड़ा जोखिम बना रहता है. इसके चलते आसपास क्षेत्र के कई युवा अपने-अपने समूह बनाकर 50-50 रुपए में मोटरसाइकिल को पुलिया पार कराने का ठेका लेते हैं. वे कई बार मोटरसाइकिल को अपने कंधों पर उठाकर एक छोर से दूसरे छोर तक भी पहुंचाते हैं. हर साल बारिश के मौसम में यह नजारा यह आम होता है.

VIDEO: उफनते नाले की लहरों से खेलना पड़ा भारी, प्रतापगढ़ में 1 KM तक बहा युवक

कई बार हो चुके हैं यहां हादसे

बारिश के मौसम में नदी नालों के उफान पर होने के चलते प्रशासन उन्हें पार नहीं करने की चेतावनी जारी करता है. लेकिन इसके बावजूद भी लोग उसे नजरअंदाज कर अपनी जान जोखिम में डालने से नहीं चूकते. प्रशासनिक चेतावनी को नजरअंदाज करने के कारण पूर्व में कई बार हादसे भी हो चुके हैं जिनमें लोगों की जान भी जा चुकी है. उसके बावजूद भी लोग इनसे सबक नहीं लेते.