Breaking News नई दिल्ली बड़ी खबर राष्ट्रीय

J&K: – 3 आतंकी समेत पुलवामा एनकाउंटर में IED एक्‍सपर्ट वलीद भाई ढेर

पुलवामा: सुरक्षाबलों को जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में बड़ी कामयाबी मिली है. पिछले दिनों पुलवामा (Pulwama) में सुरक्षाबलों ने आतंकियों द्वारा IED से एक कार को ब्लास्ट करने की कोशिश को विफल कर दिया था, आज एनकाउंटर में इसी साजिश का मास्टरमाइंड वलीद भाई मारा गया है. आतंकी वलीद भाई पाकिस्तान का रहने वाला था. साउथ कश्मीर में पुलवामा जिले के कंगन वानपोरा इलाके में सुरक्षाबलों ने जैश ए मोहम्मद (Jaish e Mohammad) के 3 आतंकवादियों को ढेर कर दिया है. मारे गए आतंकियों में वलीद भाई भी शामिल है. आधी रात से सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रही थी. दोनों तरफ से फायरिंग की जा रही थी. सीआरपीएफ और 55 राष्ट्रीय रायफल की संयुक्त टीम आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन को अंजाम दिया.

पिछले महीने 28 मई को सुरक्षाबलों ने पुलवामा में होने वाला बड़ा हादसा टाल दिया था. आतंकवादी एक बार फिर से पुलवामा में 14 फरवरी 2019 जैसा आतंकी हमला करना चाहते थे. आतंकियों ने एक कार में भारी मात्रा में विस्फोटक IED रखा था, लेकिन उनके नापाक इरादे सफल नहीं हो पाए थे. इस वारदात का मास्टरमाइंड पाकिस्तानी आतंकी वलीद भाई था. जो आज मुठभेड़ में मारा गया.

भारतीय सेना जांबाजों ने समय से पहले ही विस्फोटक IED को नष्ट कर दिया था. ये IED से लदी कार पुलवामा में राजपोरा के अयानगुंड एरिया में बरामद हुई थी.

जब IED से लदी कार सुरक्षाबलों के नजदीक आई तो अंदर बैठे आतंकी ने फायरिंग भी की थी. लेकिन थोड़ा आगे जाने के बाद अंधेरे का फायदा उठाकर कार में बैठा आतंकी भाग गया था. गुमराह करने के लिए इस कार पर बाइक की नंबर प्लेट लगाई गई थी.

बता दें कि पिछले 24 घंटे में जैश ए मोहम्मद के 5 आतंकवादियों को मार दिया गया है. मंगलवार को पुलवामा में ही सेना ने जैश के 2 आतंकी मार गिराए थे.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलवामा में सेना ने आतंकियों का एनकाउंटर किया. सीआरपीएफ और राष्ट्रीय रायफल की ज्वाइंट टीम आतंवादियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया.

उन्होंने ये भी बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर जब सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा था, तभी छिपे हुए आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी. जिसके बाद इधर से भी जवाबी फायरिंग की गई.
जहां आतंकी छिपे हुए उस जगह को सुरक्षाबलों ने चारों तरफ से घेर लिया था. आतंकियों के बच निकलने का कोई रास्ता नहीं बचा था. सूत्रों के हवाले से खबर मिली थी कि कंगन वानपोरा इलाके में 2-3 आतंकी छिपे हुए हैं.
एहतियात के तौर पर इलाके में इंटरनेट की सेवा को ठप कर दिया गया है, जिससे कोई अफवाह ना फैले.