Breaking News उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

मुरादाबाद: कोरोना संक्रमित हेड कांस्टेबल ने TMU हॉस्पिटल की 5वीं मंजिल से कूदकर दी जान

मुरादाबाद. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुरादाबाद (Moradabad) जनपद स्थित तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी (TMU) में बनाए गए कोविड अस्पताल (COVID-19 Hospital) में कोरोना संक्रमित मरीजों द्वारा आत्महत्या का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है. तजा घटनाक्रम में कोरोना संक्रमित एक हेड कांस्टेबल ने टीएमयू कोविड अस्पताल की पांचवीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या (Suicide) कर ली. 52 साल के हेड कांस्टेबल दिवाकर शर्मा मुरादाबाद पुलिस (Police) ऑफिस शिकायत प्रकोष्ठ में तैनात थे. एक सितम्बर को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उन्हें यहां एडमिट किया गया था.

सेंटर के नोडल अधिकारी डॉ वीके सिंह ने बताया कि दिवाकर शनिवार को अजीब हरकतें कर रहे थे. वह अचानक उग्र हो उठे और स्टाफ से भिड़ गए. इस पर उन्हें दवाई देकर सुलाया गया. रात नौ बजे वह जागे और अचानक फिर से हिंसक हो गए. उन्होंने ड्रिप स्टैंड लेकर कई कर्मचारियों पर हमला करने की कोशिश की. कर्मचारी संभलते या उन्हें संभाल पाते कि इस बीच उन्होंने खिड़की से छलांग लगा दी. पांचवीं मंजिल से नीचे गिरते ही उनकी मौत हो गई. हेड कांस्टेबल दिवाकर शर्मा मूलरूप से बदायूं निवासी थे. उनका परिवार बरेली के सुभाष नगर में रहता है, जबकि दिवाकर शर्मा लाइनपार हनुमान नगर में अकेले किराये के मकान में रहते थे.

गौरतलब है कि 19 अगस्त को भी कोरोना पॉज़िटिव 28 साल की कविता की तीसरी मंजिल से गिरकर मौत हो चुकी है. इसके बाद 28 अगस्त को भी अस्पताल में भर्ती कोरोना पॉज़िटिव 42 साल के बैंक मैनेजर राजेश ने अस्पताल की 6वीं मंज़िल से कूद कर आत्महत्याकर ली थी. अब एक बार फिर एक हेड कांस्टेबल द्वारा आत्महत्या किए जाने पर अस्पताल प्रशासन सवालों के घेरे में हैं. फिलहाल जिला प्रशासन और पुलिस कोरोना पॉजिटिव मरीजों द्वारा किये जा रहे आत्महत्या के पीछे की वजहों को तलाशने में जुटा हुआ है. मामले में जांच टीम गठित कर दी गई है.