Breaking News बड़ी खबर मध्य प्रदेश

MP : बेबस होकर बस ऑपरेटरों का टैक्स माफ किया सरकार ने, राज्य के लोग नहीं रहेंगे बे-बस

मध्य प्रदेश. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में बस सेवा (Bus Service) चालू होने का रास्ता साफ हो गया है. शिवराज सरकार (Shivraj Government) ने बस संचालकों का 5 महीने का टैक्स (Tax) माफ करने का फैसला किया है, जबकि 1 महीने का 50% टैक्स माफ किया जाएगा. प्रदेश सरकार के इस फैसले के बाद बस ऑपरेटर एसोसिएशन (Bus operator association) ने 5 सितंबर से प्रदेश में बसें चलाने का फैसला कर लिया है. माना जा रहा है कि इस फैसले के बाद आमलोगों को काफी राहत मिलेगी क्योंकि लॉकडाउन की बंदिशें खत्म होने के बावजूद बसें नहीं चल रही थीं. बस संचालकों की मांग थी कि लॉकडाउन के दौरान जितना उनका नुकसान हुआ है, सरकार उसकी भरपाई करे. पिछले करीब हफ्ते भर से इस पर ऊहापोह की स्थिति बनी हुई थी. लेकिन शुक्रवार को सरकार और एसोसिएशन के बीच हुई बातचीत और टैक्स माफी पर बनी सहमति के बाद दोनों तरफ से बात बन गई. सरकार ने 5 महीने का टैक्स माफ करने और 1 महीने का टैक्स आधा करने का फैसला किया है. साथ ही टैक्स जमा करने की तारीख भी बढ़ा दी गई है. इसके बाद बस संचालकों ने बसें चालू करने का ऐलान कर दिया.

कब से कब तक टैक्स माफ?

सरकार ने बस संचालकों का 1 अप्रैल 2020 से 31 अगस्त 2020 तक की 5 महीने की अवधि का पूरा टैक्स माफ करने का फैसला किया है. इसके साथ ही सितंबर 2020 के महीने का 50 प्रतिशत टैक्स माफ करने का फैसला किया गया. सरकार ने टैक्स में छूट देने के साथ ही वाहनकर जमा करने की तारीख भी बढ़ा दी है. अब वाहनकर 30 सितंबर 2020 तक जमा किया जा सकेगा.

क्या है मामला?
दरअसल कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम और बचाव को देखते हुए प्रदेश में 25 मार्च 2020 से लॉकडाउन के कारण बसों का संचालन प्रतिबंधित किया गया था. राज्य सरकार ने समय-समय पर जारी निर्देशों के तहत उनके संचालन की अनुमतियां भी दीं, लेकिन व्यावहारिक रूप से बसों का संचालन सामान्य नहीं हो सका. जिससे बस संचालकों को काफी नुकसान उठाना पड़ा. बस संचालकों ने मांग की थी कि जब तक उनका टैक्स माफ नहीं किया जाता, तब तक वे अपनी बसों को सड़कों पर नहीं उतारेंगे. उनके इस फैसले से लॉकडाउन खुलने के बाद भी यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था.