Breaking News बड़ी खबर राजस्थान राष्ट्रीय

नई दिल्ली- अगर सचिन पायलट फिर से कांग्रेस पर विश्वास दिखाते हैं तो हम पार्टी में उनका स्वागत करेंगे- अशोक गहलोत बोले

नई दिल्ली- राजस्थान में सियासी घमासामन (Rajasthan Political crisis) लगातार जारी है. आज हर किसी की निगाहें राजस्थान हाईकोर्ट (High Court) पर टिकी रहेंगी. हाईकोर्ट आज विधायकों को नोटिस दिए जाने के मामाले में अपना फैसला सुना सकता है. विधानसभा स्पीकर के नोटिस के खिलाफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) गुट ने राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका दायर की है जिस पर सुनवाई चल रही है. इस बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि सचिन पायलट अगर दोबारा कांग्रेस पर विश्वास दिखाते हैं तो पार्टी में फिर से उनका स्वगात किया जाएगा.

‘मैं उनका स्वागत करूंगा’
अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए गहलोत ने पायलट की वापसी को लेकर अपनी राय रखी. उन्होंने कहा, ‘सचिन पायलट को लेकर भविष्य में क्या कुछ होगा ये कांग्रेस के हाई कमांड तय करेंगे. अगर वो फिर से कांग्रेस में अपने विश्वास को दोहराते हैं तो मैं उनका स्वागत करूंगा.’

सरकार पर खतरा नहीं

अशोक गहलोत ने भी कहा है कि उनकी सरकार को फिलहाल कोई खतरा नहीं है. उन्होंने कहा, ‘ये संकट राज्य सरकार के कामकाज को लेकर नहीं आई है. ये समस्या सचिन पायलट और मेरी पार्टी के विधायकों के एक छोटे समूह की अति-महत्वाकांक्षा द्वारा बनाई गई है. राजस्थान में कांग्रेस सरकार के पास विधानसभा में पूर्ण बहुमत है. हमें लोगों का भी समर्थन प्राप्त है. इसलिए ये सरकार पूरी तरह से स्थिर है और अपना पूरा कार्यकाल पूरा करेगी.’

विधानसभा सत्र बुलाने की तैयारी
सूत्रों की मानें तो यह विधानसभा सत्र सोमवार से बुलाया जा सकता है. इसमें सरकार फ्लोर टेस्ट करवा सकती है. सीएम अशोक गहलोत मौजूदा सियासी संकट को खत्म करने की कवायद में जुटे हैं. इसी के तहत विधानसभा सत्र बुलाने की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं. कांग्रेस के अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि विधानसभा सत्र बुलाने का अधिकार मंत्रीमंडल ने सीएम को दे दिया है. सीएम जब चाहें राज्यपाल से कह कर विधानसभा सत्र बुला सकते हैं.