Breaking News बड़ी खबर राजस्थान

Panchayat elections-2020: ये रहेगी कोरोना गाइड लाइन,1.25 करोड़ से ज्यादा मतदाता चुनेंगे 3848 पंचायतों में गांव की सरकार

जयपुर. राज्य चुनाव आयोग की ओर से की गई पंचायत चुनावों (Panchayat elections) की घोषणा के साथ ही अब प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मियां (Political enthusiasts) फिर से परवान चढेंगी. प्रदेश की शेष बच रही 3848 ग्राम पंचायतों के लिये चुनावों का सोमवार को ऐलान (Announcement) हो गया है. ये चुनाव चार चरणों में करवाये जायेंगे. इनके लिये आगामी 28 सितंबर, 3, 6 और 10 अक्टूबर को मतदान होगा. इन चुनावों में प्रदेश के सवा करोड़ से ज्यादा मतदाता गांव की सरकार चुनेंगे.

इन 3848 ग्राम पंचायतों में 35,968 वार्ड हैं. इनमें 1 करोड़ 28 लाख 23 हजार 785 पंजीकृत मतदाता हैं. इनमें से 67 लाख 7 हजार 732 पुरुष और 61 लाख 15 हजार 979 महिला मतदाता हैं. 74 थर्ड जेंडर मतदाता भी अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे. ये चुनाव ग्रामीण क्षेत्रों के लिये काफी अहम हैं. इनके लिये अब चुनावी चौसर बिछेगी. चुनाव कार्यक्रम जारी होते ही पंच- सरपंच के दावेदारों ने ताल ठोकनी शुरू कर दी है.
शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई के लिए नियंत्रण कक्ष
मुख्य चुनाव आयुक्त पीएस मेहरा के अनुसार आयोग की ओर से मुख्यालय और जिला स्तर पर चुनाव कार्य से संबंधित सूचनाओं के आदान-प्रदान करने के लिये नियन्त्रण कक्ष स्थापित किया जायेगा. इसके जरिये आमजन भी चुनाव संबंधी किसी भी गतिविधि के बारे में जानकारी दे सकेगा और शिकायत कर सकेगा. उन पर त्वरित कार्रवाई की जायेगी. इसका टेलीफोन नम्बर 0141-2227786 है. यह नियन्त्रण कक्ष प्रतिदिन सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक कार्य करेगा.

कोरोना से बचाव के लिए ये रहेंगी व्यवस्थाएं
– सभी मतदाताओं के लिए मास्क का उपयोग अनिवार्य होगा.
– समय-समय पर हाथों को सेनेटाइज करना होगा.
– प्रशिक्षण स्थल, मतदान केन्द्र एवं मतदान सामग्री संग्रहण स्थल को सेनेटाइज करना होगा.
– नामांकन दाखिल करते समय अभ्यर्थी के साथ एक ही व्यक्ति को आरओ के कक्ष में प्रवेश करेगा.
– अभ्यर्थियों को चुनाव प्रचार के लिए जुलूस, रैली आदि के लिए जारी गाइड लाइन का पालन करना होगा.
– मतदान केन्द्र पर मतदाताओं की संख्या 1100 से घटाकर 900 कर दी गई है.
– सोशल डिस्टेंसिंग के चलते ही चुनाव चार चरणों में रखा गया है.
– 55 वर्ष से अधिक के कार्मिकों की चुनाव में ड्यूटी नहीं लगाई जायेगी.
– कोविड-19 मैनेजमेंट के लिए पंचायत समिति स्तर पर ब्लॉक स्वास्थ्य अधिकारी नोडल अधिकारी के रूप में नियुक्त किया जाएगा.
– प्रत्येक निर्वाचनकर्मी को आयोग्य सेतु एप का उपयोग करना होगा.
– मतदान दल के सभी सदस्यों को पर्याप्त मात्रा में मास्क, ग्लब्स और सेनेटाइजर उपलब्ध कराया जाएगा.