Breaking News क्राइम बड़ी खबर हरियाणा

पानीपत: मामले को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश,आरा मशीन से काट दिया युवक का हाथ

पानीपत. हरियाणा के पानीपत (Panipat) में पानी मांगने पर युवक का हाथ काटने के आरोप से जुड़े मामले ने तूल पकड़ लिया है. मामले को हिन्दू-मुस्लिम (Hindu-Muslim) से जोड़ते हुए अब सोशल मीडिया में इसको तेजी से वायरल किया जा रहा है. पानीपत के डीएसपी सतीश वत्स हालांकि सोशल मीडिया पर गलत जानकारी फैलाने की बात कह रहे हैं. इखलाख नाम के युवक का हाथ हारा मशीन से काटने की घटना सामने आई है. इस मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है.

सतीश वत्स ने बताया कि इस पूरे मामले को लेकर एसआईटी गठित कर दी गई है और पुलिस पूरी गहनता से इस मामले की जांच कर रही है. उन्होंने बताया कि पुलिस युवक का कटा हुआ हाथ बरामद कर चुकी है, जिसका डीएनए करवाया जाएगा. इससे पता लगाया जाएगा कि क्या ये इखलाख का ही हाथ है.

पुलिस पर लगाए आरोप
पूरे मामले को लेकर इखलाख के भाई इकराम का बयान भी सामने आया है. उन्होंने इस पूरी घटना को अंजाम देने की वजह मुस्लिम होना बताया. साथ ही उन्होंने इस पूरे मामले को लेकर पुलिस पर गुमराह करने का आरोप लगाया. इखलाख के भाई का कहना है कि वह काम की तलाश में पानीपत पहुंचा था, लेकिन जब उसके पास रहने के लिए कोई ठिकाना नहीं था तो पार्क में लेट गया. आरोप है कि वहां कुछ युवकों ने उसके साथ मारपीट की. इसके थोड़ी देर बाद इखलाख को प्यास लगी तो उसने पार्क के साथ लगते के दरवाजे पर हाथ मारा. कथित तौर पर यह उन्‍हीं लोगों में से एक का घर था जिसने इखलाख के साथ मारपीट की थी. आरोप के मुताबिक, उन्होंने इखलाख को अंदर खींच लिया और उसके हाथ पर 786 लिखा देखा तो काट दिया.
रेप का आरोप

जिस परिवार पर इखलाख का हाथ काटने का आरोप लगा है, उसके सदस्‍यों ने इखलाख पर घर से बच्चे को उठाकर पार्क में उसके साथ कुकर्म करने की कोशिश का आरोप लगाया है. हालांकि, परिवार ने इखलाख के साथ हाथापाई की बात तो पार्क के अंदर ही कबूल की है, लेकिन घर में अंदर खींच कर आरा मशीन से हाथ काटने की बात को सिरे से नकार दिया है. फिलहाल पुलिस मामले की गहनता से जांच करने में जुटी है और यह दावा कर रही है जो बीच में दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.