Breaking News क्राइम बड़ी खबर बिहार

पटना- पटना में रेप के आरोपी की पीट-पीटकर हत्या, 8 साल की बच्ची के साथ की थी हैवानियत

पटना. राजधानी पटना में 8 साल की बच्ची से रेप (Rape In Patna) के आरोपी की लोगों ने पीट-पीटकर हत्या (Murder) कर दी. आरोपी की मौत पिटाई के कारण अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई. घटना अगमकुआं थाना इलाके के नया टाेला स्थित स्लम बस्ती की है. आरोप है कि 30 साल के युवक ने बच्ची के साथ दुष्कर्म (Rape) किया. बुधवार काे अहले सुबह हुई इस घटना की जानकारी मिलने के बाद आसपास के लाेगाें ने पुलिस काे सूचना नहीं दी, बल्कि आराेपी टुनटुन मांझी काे लाठी-डंडे से वार कर बुरी तरह से घायल कर दिया.

घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस माैके पर पहुंची और गंभीर रूप से घायल टुनटुन काे पीएमसीएच में भर्ती करा दिया जहां इलाज के दाैरन उसकी माैत हाे गई. स्थानीय लाेगाें के अनुसार आरोपी नशे की हालत में था. पटना में रेप या किसी अन्य तरह के गंभीर अपराध में यह पहला मामला है कि जब भीड़ ने ही पीट-पीटकर आराेपी की जान ले ली. टुनटुन और उस बच्ची का घर पास में ही है. बच्ची का इलाज चल रहा है.

बच्ची को घर से उठाकर ले गया था आरोपी
थानेदार अभिजीत कुमार ने बताया कि युवक की माैत हाे गई है. वहीं, पीड़ित बच्ची का मेडिकल कराया गया है. इलाके में टुनटुन अकेले रहता था और कूड़ा-कचरा उठा कर बेचता था. पीड़ित बच्ची का परिवार भी यही काम करता है. बच्ची की मां ने कहा कि सोए हालत में ही आरोपी घर से मुंह दबाकर बच्‍ची को ले गया था. वह जब सुबह उठीं ताे देखा कि बच्ची गायब है. अनहाेनी की आशंका देख उसे खाेजने लगीं. इतने में पड़ाेस की एक महिला ने बताया कि बच्ची काे टुनटुन ले गया है. वह उसका मुंह दबा कर ले जा रहा था. महिला ने बच्‍ची के साथ गलत काम करने की भी बात कही.
आक्रोशित लोगों ने पीट-पीटकर किया था अधमरा

पीड़िता की मां के अनुसार, घटना की खबर मिलते ही स्लम बस्ती के अन्य लोग आक्रोशित हो गए और उग्र लोगों ने युवक टुनटुन मांझी को मौके पर ही घेर लिया और उसे पीट-पीट कर अधमरा कर दिया. रेप के मामले में पीड़िता की मां के बयान पर पुलिस केस दर्ज करेगी. इससे पहले पिछले साल नाैबतपुर में बच्चा चाेरी करने के आरोप में आराेपी काे पीट-पीटकर मार डाला गया था. हालांकि, जिस कृष्णा काे मार देने की बात सामने आई थी वह नवंबर माह में जिंदा लाैट आया था. नाैबतपुर पुलिस घटना के एक साल बाद भी मृतक कृष्णा मांझी का पता नहीं लगा सकी है, इस मामले में करीब 25 आरोपिताें काे पुलिस ने जेल भेजा गया था.