Breaking News उत्तर प्रदेश

आयुक्त ने मण्डल के जनपदों में यूरिया की उपलब्धता की समीक्षा कर पारदर्शी वितरण व बिक्री सुनिश्चित कराने के दिए निर्देश

देवीपाटन मंडल ब्यूरो राहुल तिवारी की रिपोर्ट

गोण्डा देवीपाटनमण्डल आयुक्त एस0वी0एस0 रंगाराव ने मंगलवार को कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर मण्डल के जनपदों मे यूूरिया की उपलब्धता, प्राप्त रैक के सापेक्ष यूरिया का वितरण तथा स्टाॅक की गहन समीक्षा की। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि प्राप्त यूरिया के सापेक्ष मानक अनुसार वितरण सुनिश्चित कराएं तथा यह भी सुनिश्चित कराएं कि ओवर रेटिंग न होने पावे।
आयुक्त कार्यालय में आयोजित समीक्षा बैठक में जेडी कृषि देवीपाटन मण्डल द्वारा बताया गया कि देवीपाटन मण्डल में विभिन्न खाद कम्पनियों के माध्यम सेे 01 अगस्त से अब तक 21208.565 मीटरिक टन यूरिया की आपूर्ति की गई है, जिसमें जनपद गोण्डा में 8467.965 मीटरिक टन, बलरामपुर में 4413.060  मीटरिक टन, बहराइच में 5855.220 मीटरिक टन तथा जनपद श्रावस्ती में 2470.320 मीटरिक टन सहित कुल 21208.565 मीटरिक टन यूरिया की आपूर्ति हुई है, जिसे किसानों में बिक्री हेतु सोेसाइटियों व प्राइवेट दुुकानदारों को उपलब्ब्ध कराया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि मण्डल में यूरिया की कोई कमी नहीं है, क्योंकि लगातार यूरिया की आवक बनी हुई है। उन्होंने बताया कि इफको कम्पनी द्वारा 2680 मीटरिक टन यूरिया, नेशनल फर्टिलाइजर कम्पनी द्वारा 2850 मीटरिक टन तथा वारा फर्टिलाइजर्स कम्पनी द्वारा 1325 मीटरिक टन यूूरिया की आपूर्ति लोडिंग में है जो आगामी 27 अगस्त से 29 अगस्त के बीच गोण्डा के सुभागपुर रैक प्वाइन्ट पर पहुंच जाएगी।  
आयुक्त ने बैठक में निर्देश दिए कि कृषि विभाग के अधिकारी भ्रमणशील रहकर सोसाइटियों व प्राइवेट दुकानदारों के यहां यूरिया की बिक्री का जायजा लें तथा प्रत्येक दशा में यह सुनिश्चित करें कि कहीं भी ओवर रेटिंग व यूरिया की कालाबाजारी न होने पावे। उन्होेंने सख्त निर्देश दिए कि ओवर रेटिंग व यूरिया की कालाबाजारी करने वाले दुकानदारों के विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कार्यवाही कराएं। उन्होने यह भी निर्देश दिए कि यूरिया की बिक्री पीओएस मशीन के माध्यम से ही कराई जाय तथा कोविड-19 के दृष्टिगत दुकानों व सोसाइटियों पर सोशल डिस्टेन्सिंग का भी पूरा ध्यान रखा जाय।  
बैठक में संयुक्त कृषि निदेशक देवीपाटन डा0 पी0के0 गुप्ता, एआर कोआॅपरेटिव व डीआर कोआॅपरेटिव सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।