Breaking News नई दिल्ली बड़ी खबर राष्ट्रीय

वाशिंगटन- नोबेल पुरस्कार समारोह रद्द, ट्रंप बोले- हालात और बदतर होंगे

वाशिंगटन. कोरोना संक्रमण (Coronvirus) ने अमेरिका (US), ब्राजील (Brazil) और भारत (India) को बुरी तरह अपनी गिरफ्त में ले लिया है. मंगलवार को भी दुनिया भर में संक्रमण (Covid-19) के 2 लाख 39 हज़ार नए केस सामने आए हैं जबकि 5600 से ज्यादा लोगों की इससे मौत हो गयी है. कोरोना महामारी के कारण नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize banquet cancelled) का वार्षिक समारोह 60 सालों में पहली बार रद्द कर दिया गया है. उधर कोरोना खुद चला जाएगा का दावा कर रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कहा है कि देश और दुनिया में कोरोना महामारी की स्थिति पहले से और भी ज्यादा ख़राब होने जा रही है.

ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका में कोरोना महामारी की स्थिति अभी और ख़राब होगी, हालांकि उम्मीद है कि जल्द हालात सुधरने लगेंगे. कोरोना की रोज़ाना प्रेस ब्रीफ़िंग की दोबारा शुरुआत करते हुए ट्रंप ने सभी अमरीकियों से फ़ेस मास्क पहनने की अपील की और कहा कि इसका असर होगा. राष्ट्रपति ने प्रेस से बातचीत के दौरान हालांकि ख़ुद फ़ेस मास्क नहीं पहना था और इसके पहले तो वो इस तरह के एहतियाती क़दम का मज़ाक़ उड़ाकर आलोचनाओं के शिकार भी हुए हैं. राष्ट्रपति के सलाहकारों ने उनसे इस मामले में नया रुख़ अपनाने को कहा है क्योंकि पूरे अमरीका में कोरोना मामले फिर तेज़ी से बढ़ रहे हैं. बता दें कि अप्रैल में इसी तरह की एक प्रेसवार्ता में ट्रंप ने कहा था कि लोगों में डिसइंफ़ेक्टेंट का इंजेक्शन देकर कोरोना का इलाज किया जा सकता है. इसके बाद हुई आलोचना से परेशान होकर उन्होंने इसे बंद कर दिया था.

महीनों बाद शुरू हुई कोरोना प्रेस ब्रीफिंग

मंगलवार को महीनों बाद अपने पहले प्रेस ब्रीफ़िंग के दौरान उन्होंने बहुत संभल कर वहीं बातें कहीं जो कि इससे पहले कोरोना टास्क फ़ोर्स के अधिकारी और स्वास्थ्य विशेषज्ञ कह रहे थे. इस दौरान उन्होंने चेतावनी दी, दुर्भाग्य से ये महामारी ठीक होने से पहले अभी और ख़राब होगी. हमलोग सभी से कह रहे हैं कि अगर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर सकते हैं तो मास्क लगाएं. मास्क को आप पसंद करें या नहीं करें लेकिन उसका असर तो होता है. बता दें कि मीडिया के सामने ट्रंप ख़ुद मास्क पहनने से इनकार करते रहे हैं और ये कहते रहे हैं कि कुछ लोग सिर्फ़ उनके ख़िलाफ़ एक राजनीतिक बयान देना चाहते हैं और उसी के कारण सार्वजनिक रूप से वो मास्क पहनते हैं.

नोबेल पुरस्कार समारोह रद्द
कोरोना महामारी के कारण नोबेल पुरस्कार का वार्षिक समारोह रद्द कर दिया गया है. 60 सालों के बाद ऐसा पहली बार हुआ है जब नोबेल पुरस्कार समारोह को नहीं आयोजित किया जाएगा. इस साल भी नोबेल पुरस्कार जीतने वालों की घोषणा की जाएगी लेकिन आमतौर पर 10 दिसंबर को होने वाला समारोह नहीं होगा. नोबेल फ़ाउंडेशन के अनुसार कोरोना के इस दौर में नोबेल पुरस्कार और समारोह नए तरीक़े से किए जाएंगे. फ़ाउंडेशन ने कहा कि ये ख़ास तरह के हालात हैं और सबको इसके मुताबिक़ ढलने की ज़रूरत है. इससे पहले आख़िरी बार 1956 में नोबेल पुरस्कार समारोह को उस वक़्त आयोजित नहीं किया गया था जब तत्कालीन सोवियत संघ ने हंगरी पर हमला किया था.